शिवपुरी-ग्वालियर फोरलेन का काम बंद

2016-10-17 23:13:33

Patrika News Network

शिवपुरी. शिवपुरी से ग्वालियर के बीच निर्माणाधीन फोरलेन सड़क का काम पिछले एक माह से बंद होने के साथ, अब कब शुरू होगा यह कहना मुश्किल है। क्योंकि 114 किमी की फोरलेन बनाने का काम लेने वाले एस्सेल ग्रुप ने दिलीप बिल्डकॉन को 100 करोड़ रुपए का भुगतान लंबित कर दिया, जिसके चलते एक माह से बिल्डकॉन ने काम बंद कर दिया। अधूरे पड़े काम के चलते न केवल हाईवे से गुजरने वाले लोगों को खतरा बना हुआ है, बल्कि आए दिन गंभीर हादसे भी हो रहे हैं। यही वजह है कि सोमवार को एनएचएआई के रीजनल ऑफिसर भोपाल, विशाल गुप्ता ने अभी तक हुए काम को देखने के बाद एस्सेल ग्रुप को छह माह में काम पूरा करने की टाईम लिमिट दी है। सूत्रों की मानें तो बीओटी के तहत फोरलेन का काम लेने के बाद ग्रुप ने बैंक से तो पूरी राशि निकाल ली, लेकिन उसे किसी दूसरे काम में लगा देने की वजह से फोरलेन का काम अधर में लटक गया। 

तीन कंपनियों को अलग-अलग दिया काम 
बिल्ड ऑपरेट ट्रांसफर (बीओटी) प्लान के तहत शिवपुरी से ग्वालियर के बीच बनने वाली 114 किमी फोरलेन सड़क का काम एस्सेल ग्रुप ने 1200 करोड़ रुपए में लिया है। इसमें लगभग 550 करोड़ रुपए का काम दिलीप बिल्डकॉन को (केवल सड़क बनाने का), आदिनाथ कंस्ट्रक्शन को पुल-पुलिया का काम लगभग ढाई से 300 करोड़ रुपए का तथा बायपास का काम तीसरी कंपनी को लगभग 350 करोड़ का पेटी कॉन्ट्रेक्ट पर काम दिया है। 
कंपनी लगाती पैसा, एनएचएआई देती जमीन 
बीओटी प्लान के तहत एनएचएआई सिर्फ सड़क बनाने के लिए जमीन देगी, जबकि फोरलेन बनाने में एस्सेल ग्रुप को ही राशि खर्च करना है। इसके लिए ग्रुप ने बैंक से यह राशि प्रोजेक्ट के नाम पर फायनेंस करवाई है। सूत्रों की मानें तो ग्रुप ने बैंक से पूरी राशि तो निकाल ली, लेकिन उसे किसी दूसरे प्रोजेक्ट में लगा दिया। जिसके चलते फोरलेन बनाने वाले पेटी कॉन्ट्रेक्टर का भुगतान अटक गया। यही वजह हैकि पुल-पुलिया का काम लेने वाली आदिनाथ कंपनी पहले ही काम छोड़कर जा चुकी है। अब दिलीप बिल्डकॉन ने भी पिछले एक माह से काम बंद कर दिया। फोरलेन बनने के बाद टोल टैक्स की वसूली एस्सेल ग्रुप करेगा। 
खतरनाक हुआ हाईवे, फोरलेन में पेंच 
शिवपुरी से ग्वालियर के बीच जहां पर अभी तक फोरलेन नहीं बनी, वहां पर सड़क बद से बद्तर हो गई। बरसों पुरानी पुल-पुलियां बुरी तरह से जर्जर होकर किसी गंभीर हादसे को आमंत्रण दे रही हैं। ऐसे में सड़क का काम कब शुरूहोगा और कितनी जल्दी पूरा कर लिया जाएगा, इसमें संशय ही बना हुआ है। क्योंकि बिना भुगतान के न तो दिलीप बिल्डकॉन काम करने को तैयार है और न ही अन्य दूसरी कंपनी। 
एनएचएआई के आरओ विशाल गुप्ता से सीधी बात
सवाल: फोरलेन सड़क का काम बंद क्यों है? 
जवाब- कोई फायनेंशियल मैटर है और भुगतान न होने से पेटी कॉन्ट्रेक्टर ने काम बंद किया है। 
सवाल: आपने 6 माह की टाइम लिमिट किस आधार पर दी? 
जवाब- एस्सेल ग्रुप मैनेजमेंट से हमारी बात हुई है। वे बता रहे हैं कि कंपनियों से जो उनका मैटर उलझा था, वो लगभग शॉटआउट हो गया है। उन्होंने जल्द काम शुरू करने की बात कही है। 
सवाल: समय में काम पूरा नहीं किया तो एनएचएआई क्या करेगी? 
जवाब- फोरलेन बनाने के लिए दी गई समयावधि पहले ही खत्म हो चुकी है और टाइम एक्सटेंशन दिया गया है। एनएचएआई तो सिर्फ जमीन देती है, बीओटी में काम तो उसी कंपनी को करना है, बाद में वो सड़क में खर्च लागत को टोल टैक्स के जरिए वसूलते हैं। 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2