Show Mobile Navigation

लेबल

रेलवे यात्री ध्यान दें, आपकी ट्रेन कहां पहुंची है अब देखिए गुगल पर

admin - 11:49:00 pm

रेलवे यात्री ध्यान दें, आपकी ट्रेन कहां पहुंची है अब देखिए गुगल पर

अगर आप इंटरनेट यूजर हैं तो न सिर्फ आप ऑनलाइन अपने ट्रेन की लोकेशन जान सकते हैं बल्कि गुगल मैप पर भी अपनी ट्रेन को देख सकते हैं। इसे ट्रेन ट्रैकिंग सिस्टम कहा जाता है। ऐसी सुविधा अभी तक हवाई सेवाओं के लिए ही उपलब्ध थी।

भारतीय रेल से जुड़ी नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम के सीआरआईएस (क्रिस) पोर्टल पर यह सुविधा उपलब्ध है। सभी ट्रेनों और ट्रेन नेटवर्क को रेलवे ने जीआईएस मैप से जोड़कर यह सुविधा उपलब्ध करायी है। 2013 में रेलवे ने इस योजना पर काम शुरू किया था। इसके बाद दक्षिण भारत के कुछ रेलखंडों पर बतौर पायलट प्रोजेक्ट इसका संफलता पूर्वक संचालन भी किया। अब यह सुविधा देश में चलने वाली सभी ट्रेनों के लिए शुरू कर दी गई है।

ऐस देखें गुगल मैप पर अपनी ट्रेन को

गुगल मैप पर अपनी ट्रेन की स्थिति जानने के लिए आपको ट्रेन नंबर, स्टेशन का नाम और यात्रा की तिथि अंकित करनी होगी। इतनी जानकारी अंकित करते ही गुगल मैप खुल जाएगा और उस ट्रेन की स्थिति प्रदर्शित हो जाएगी। उदाहरण के लिए अगर 8 अक्टूबर को भागलपुर आने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस की स्थिति जाननी हो तो ट्रेन नंबर के कॉलम में 12368, स्टेशन की जगह भागलपुर और तिथि की जगह 8 अक्टूबर अंकित करना होगा। विक्रमशिला एक्सप्रेस के लिए आनंद विहार से भागलपुर के बीच उस रेलखंड को दो खास रंग से प्रदर्शित किया जाएगा जो इस ट्रेन का रूट है।

जिस शहर से गुजरेगी ट्रेन उसे भी देख सकते हैं

ट्रेन मैप ट्रैकिंग सिस्टम के तहत ट्रेन की स्थिति जानने का दो विकल्प है। एक तो मानचत्रि पर देख सकते हैं दूसरा उपग्रह से ली गई चित्र पर। उपग्रह के चित्र में आप उस शहर, पुल, एनएच, प्रमुख भवन आदि तमाम महत्वपूर्ण बनावट को देख पाएंगे जहां से ट्रेन गुजर रही है या गुजरने वाली है।

इन रंगों के संकेतों को समझें

हरी लाइन-

प्रस्थान स्टेशन से ट्रेन की मौजूदा स्थिति तक होती है। मतलब रेलखंड पर तय की गई दूरी।

नीली लाइन-

ट्रेन की मौजूदा स्थिति वाली जगह से गंतव्य स्टेशन के बीच होती है। मसलन शेष दूरी।

हरा विंदु-

ट्रेन ट्रेकिंग के समय ट्रेन जिस स्टेशन पर मौजूद है।

मानचित्र/उपग्रह

इसके लिए स्क्रीन पर बायीं ओर मानचित्र और उपग्रह चित्र का विकल्प आएगा।