धनतेरस पर क्या खरीदे और क्या ना खरीदे


हिन्दू समाज में धनतेरस सुख-समृद्धि, यश और वैभव का पर्व माना जाता है। इस दिन धन के देवता कुबेर और आयुर्वेद के देव धन्वंतरि की पूजा का बड़ा महत्त्व है। हिन्दू पंचांग के अनुसार कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि को मनाए जाने वाले इस महापर्व के बारे में स्कन्द पुराण में लिखा है कि इसी दिन देवताओं के वैद्य धन्वंतरि अमृत कलश सहित सागर मंथन से प्रकट हुए थे, जिस कारण इस दिन धनतेरस के साथ-साथ धन्वंतरि जयंती भी मनाई जाती है।इसी दिन लक्ष्मी गणेश जी की मिटट्ी या चांदी या सोने की प्रतिमाएं या उनके चित्र तथा बर्तन खरीद लें और उनका प्रयोग भी इसी दिन से आरंभ कर दें। सायंकाल मुख्य द्वार पर आटे का चैमुखी दीपक बना कर, चावल या गेहूं की ढेरी पर रखें। साथ में जल, रोली, गुड़ फूल नैवेद्य रखें । इसे आज से 5 दिन हर शाम जलाएं। यह पर्व दीवाली के आगमन की सूचना देता है। यह भी पढ़े :पर्स में ना रखें ये 5 चीजें, वरना हो जाओगे कंगालयह भी पढ़े :महाभारत की ये बातें कर देंगी आपको हैरान

धनतेरस पर क्या खरीदे-दीपावली से पहले धनतेरस पर घर में कुछ खास चीजें लाने से धन की प्राप्ति होती है। गणेश लक्ष्मी की मूर्ति अवश्य खरीदें। गणेश लक्ष्मी की मूर्तियों को धनतेरस के दिन घर लाने से घर में धन संपत्ति का आगमन रहता है और पूरे सालभर घर में धन और अन्न की कमी नहीं होती। धातु का सामान जैसे सोना चांदी। इस दिन सोना चांदी खरीदने से व्यक्ति के भाग्य में इजाफा होता है। धातु से बने बर्तन और गहने खरीदने के लिए धनतेरस का दिन सर्वश्रेष्ठ है। इस दिन धातु का सामान घर में लाने से घर में सदैव लक्ष्मी बनी रहती हैं।यह भी पढ़े :गिफ्ट में ना दे ये 10 चीजें, शनिदेव हो जाएंगे नाराज!यह भी पढ़े :महाभारत की ये बातें कर देंगी आपको हैरान

स्फटिक का श्रीयंत्र। स्फटिक का श्रीयंत्र घर लाने से लक्ष्मी घर की ओर आकर्षित होती हैं। इसलिए धनतेरस के दिन स्फटिक का श्रीयंत्र घर लाएं और दीपावली की सांय को इसे लक्ष्मी पूजन स्थल पर रखकर इसकी पूजा करें। पूजा के बाद इस श्रीयंत्र को केसरिया कपड़े में बांधकर तिजोरी या धन स्थान पर रख दें, इससे सदा वहां बरकत बनी रहेगी। यह भी पढ़े :ऐसे करें पूजा, घर में कभी नहीं आएगी धन की कमीयह भी पढ़े :धनतेरस पर खरीदे पीतल के बर्तन, मिलेगा13 गुना फल

झाड़ू को लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। दीपावली के मौके पर नई झाड़ू को घर लाएं। इससे नकारात्मक शक्तियां घर से बाहर जाएंगी और साफ सुथरे घर में लक्ष्मी का आगमन होगा। कहा जाता है कि कौड़ी को घर में रखने से उस घर में कभी भी धनाभाव नहीं रहता। इसिलए धनतेरस के दिन कौड़ी खरीद कर घर लाएं और लक्ष्मी पूजा के समय इसे भी शामिल करें। यह भी पढ़े :ऐसे करें पूजा, घर में कभी नहीं आएगी धन की कमीयह भी पढ़े :3दिन में बदलें किस्मत, आजमाएं ये वास्तु टिप्स

पूजन के बाद इन कौडियों को लाल कपड़े में बांध कर तिजोरी या धन वाले स्थान पर रख दें। वहां कभी धन की कमी नहीं होगी। शंख सुख समृद्धि और शांति का प्रतीक है। इस दिन शंख को घर लाएं और इसे दीपावली पूजन के समय बजाएं। इससे घर में लक्ष्मी का आगमन होगा और घर के अनिष्ट टल जाएंगे। दीपावली के मौके पर नमक का पैकेट भी घर लेकर आएं और इसे दीपावली के दिन इस्तेमाल भी करें। कहते हैं कि नमक खरीद कर लाने से साल भर धनाभाव नहीं होता और सुख समृद्धि घर में ही टिकी रहती है। यह भी पढ़े :महाभारत की ये बातें कर देंगी आपको हैरानयह भी पढ़े :ऐसे करें पूजा, घर में कभी नहीं आएगी धन की कमी

दीपावली के दिन इसी नमक के पानी का पौंछा घर में लगाने से हमेशा के लिए दरिद्रता दूर हो जाती है। धनिया धन का प्रतीक है। इसलिए इसे धनतेरस के दिन साबुत धनिया खरीद कर लाएं और दीपावली के दिन लक्ष्मी पूजा के समय इसकी भी पूजा करें। दीपावली पूजन के बाद घर के आंगन या गमलों में इसे बुरक दें। यह धनदायक है। धनतेरस के दिन घर में गूंजा लाएं क्योंकि इससे धनप्राप्ति के द्वार खुल जाते हैं। गूंजा के बीज धनतेरस के दिन लाकर घर में रख दें और लक्ष्मी पूजन के समय इन्हें भी पूजा में रखें।यह भी पढ़े :धनतेरस पर खरीदे पीतल के बर्तन, मिलेगा13 गुना फलयह भी पढ़े :गिफ्ट में ना दे ये 10 चीजें, शनिदेव हो जाएंगे नाराज!

धनतेरस पर ना खरीदें ये सामान-शीशे का संबंध भी राहु से है, इसकी खरीदारी से बचें। अगर शीशा खरीदें तो ध्यान रखें वह पारदर्शी अथवा धुधंला नहीं होना चाहिए।यह भी पढ़े :ये 5 चीजें ना रखें घर में, वरना नहीं संवरेगी किस्मतयह भी पढ़े :शरीर के चिन्हों (सामुद्रिक लक्षणों) से जानें स्त्रीयों की विशेषता

एल्युमनियिम के बरतन न खरीदें। यह ऐसा धातु है जिस पर राहू का अधिपत्य होता है लगभग सभी शुभ ग्रह इससे प्रभावित होते हैं। इसी कारण अलुमिनियम का प्रयोग पूजा- पाठ और ज्योतिष की दृष्टि से नहीं किया जाता। यह भी पढ़े :पर्स में ना रखें ये 5 चीजें, वरना हो जाओगे कंगालयह भी पढ़े :क्यों काटा ब्रह्मा का 5वां सिर, जानें-शिव के 19 अवतार

अलुमिनियम का प्रयोग वास्तुशास्त्र, स्वास्थ्य और ज्योतिष की दृष्टि से अत्यधिक हानिकारक माना जाता है। नुकीला सामान जैसे चाकू, कैंची, छूरी और लोहे के बरतन।यह भी पढ़े :धनतेरस पर खरीदे पीतल के बर्तन, मिलेगा13 गुना फलयह भी पढ़े :कैसे पहचानें कि नजर लगी है ?

धनतेरसये 5आजमाएं

स्राेत से पढ़ें

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget