Show Mobile Navigation

लेबल

WhatsApp की प्रोफाइल पर जलती हुई मोमबत्ती लगाने का वायरल सच

admin - 10:55:00 pm


नई दिल्ली: इन दिनों सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है. मैसेज में कहा गया है कि अगर आपने जलती हुई मोमबत्ती की तस्वीर को अपनी व्हाट्सएप की प्रोफाइल फोटो बना रखा है तो सावधान हो जाएं. इसके जरिए आतंकी संगठन आईएसआईएस आपके फोन की जासूसी कर रहा है. क्या है इस जलती हुई मोमबत्ती के मैसेज का वायरल सच.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने वायरल किया मैसेज!

इस मैसेज को एके मित्तल के नाम से वायरल किया जा रहा है जिन्हें दिल्ली का पुलिस कमिश्नर बताया जा रहा है. मैसेज में कहा जा रहा है कि इसे प्रोफाइल पिक्चर ना बनाएं. ऐसा करने पर आपके सारे डाटा को आतंकी संगठन आईएसआईएस चुरा लेगा.

आपके फोन पर आतंकी संगठन ISIS की नजर !

दरअसल जलती हुई मोमबत्ती की तस्वीर से व्हाट्सएप रंगा पड़ा है. अलग-अलग ग्रुप, अलग-अलग लोगों ने उरी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के मकसद से इस तस्वीर को अपनी प्रोफाइल फोटो बना रखा है. लेकिन ताजा चर्चा ये है कि ये तस्वीर आपके फोन में जासूसी कर रही है.

वायरल हो रहे मैसेज की पड़ताल

एबीपी न्यूज ने सच्चाई जानने के लिए इस मैसेज की पड़ताल की. पड़ताल में सामने आया कि कैंडिल वाली इस तस्वीर का आतंकी संगठन आईएसआईएस से कोई लेना-देना नहीं है, साथ ही प्रोफाइल फोटो से डाटा नहीं चुराया जा सकता.

एके मित्तल का दिल्ली पुलिस से कोई संबंध नहीं है

एके मित्तल नाम के शख्स का दिल्ली पुलिस से क्या संबंध है इसका पता लगाने के लिए हमारी संवाददाता श्रेया बहुगुणा ने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से बात की जिन्होंने हमें बताया कि ए के मित्तल ना तो दिल्ली पुलिस कमिश्नर हैं और ना ही कभी रहे हैं. इस वक्त दिल्ली के पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार वर्मा हैं.

पड़ताल में वायरल हो रहा मैसेज झूठा साबित हुआ।