कैसे रूट करें अपने एंडरॉयड स्मार्टफोन को, How To Root Your Android Phone?

 

ग्वालियर. एंडरॉयड स्मार्टफोन में अक्सर आपने फोन रूट का नाम सुना होगा। परंतु आपको मालूम है कि यह रूट है क्या? इसके क्या फायदे और नुकसान हैं? आपके इन्हीं सवालों का जवाब हमने आगे दिया है। इसके साथ ही फोन रूट करने का तरीका भी बताया गया है।

क्या है फोन रूट?फोन रूट को साधारण भाषा में जेलब्रेकिंग भी कहा जाता है। इसके माध्यम से आप अपने फोन में कई तरह के बदलाव कर सकते हैं। रूट आपको फोन के ऑपरेटिंग सिस्टम में बदलाव करने का अधिकार देता है। अर्थात आप चाहें तो फोन के लॉक सिस्टम से लेकर अंदर मेन्यू और यूजर इंटरफेस तक में बदलाव कर सकते हैं। इसमें मौजूदा एंडरॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम की जगह एक नया एंडरॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम (कस्टमाइज एंडरॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम) को इंस्टॉल किया जाता है। क्या हैं फायदेअगर एंडरॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में यदि थोड़ी बहुत भी जानकारी है तो रूट के बाद आप अपने फोन के यूजर इंटरफेस तक में बदलाव कर सकते हैं। इतना ही नहीं कई ऐसे एप्लिकेशन का उपयोग कर सकते हैं जो पहले आपके फोन में उपयोग नहीं होते थे। रूट किए गए फोन के लिए कुछ खास एप्लिकेशन भी उपलब्ध हैं जिनका उपयोग साधारण एंडरॉयड फोन पर नहीं किया जा सकता। रूट के बाद फोन के एप्लिकेशन पर आपका ज्यादा नियंत्रण होगा। आप चाहें तो पूरी तरह से विज्ञापनों को बंद कर सकते हैं। आप फोन से उन एप्ल्किेशन को अनइंस्टॉल कर सकते हैं जो पहले से उपलब्ध थे और जिन्हें चाह कर भी आप पहले अनइंस्टॉल नहीं कर सकते थे। इससे फोन की इंटरनल मैमोरी खाली होती है।

क्या है नुकसानरूट करने का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इससे आपके फोन की गारंटी व वारंटी समाप्त हो जाती है। इतना ही नहीं, रूट के दौरान यदि आपने सभी नियमों को सही तरीके से पालन नहीं किया तो आपका फोन पूरी तरह से बेकार हो जाता है। रूट किए गए फोन में सुरक्षा का जोखिम भी बढ़ जाता है। फोन में वायरस आने का खतरा या आपकी निजी सूचनाएं चोरी होने का जोखिम थोड़ा बढ़ जाता है। यही वजह है कि गूगल रूट किए गए फोन में वाॅलेट सेवा नहीं देता।

कैसे करें फोन को रूटएंडरॉयड स्मार्टफोन को रूट करने के लिएस्टेप 1: सबसे पहले आपको अपने पीसी के लिए किंग रूट एप्लिकेशन को डाउनलोड कर उसे इंस्टॉल करना है।स्टेप 2: एप्लिकेशन पीसी जब इंस्टॉल हो जाए तो उसे ओपेन करें जहां आपसे फोन को कनेक्ट करने के लिए कहा जाएगा।Android-phone-rootस्टेप 3: फोन को कनेक्ट करने के साथ ही यह भी देख लें कि फोन में यूएसबी डीबगिंग का विकल्प ऑन हो।स्टेप 4: यूएसबी डीबगिंग का विकल्प आपको डेवलपर्स ऑप्शन में मिलेगा जो सेटिंग में होता है। यदि फोन ज्यादा पुराना है तो फिर डेवलपर्स ऑप्शन सेटिंग में एप्लिकेशन के अंदर मिलेगा।स्टेप 5: यदि डेवलपर्स ऑप्शन कहीं नहीं दिखाई दे रहा है तो आप सेटिंग में अबाउट फोन में जाएं।स्टेप 6: यहां आपको बिल्ट नंबर दिखाई देगा इसे प्रेस करें। लगातार कुछ देर प्रेस करने के बाद यहां लिखा आएगा कि आपके फोन में डेवलपर्स आप्शन पहले से है।स्टेप 7: अब आप बाहर सेटिंग में आ जाएं यहां डेवलपर्स ऑप्शन का विकल्प मिल जाएगा उसे क्लिक करें।स्टेप 8: यहां आपको यूएसबी डीबगिंग का विकल्प मिलेगा उसे ऑन कर दें।स्टेप 9: इसके बाद फोन यूएसबी सॉफ्टवेयर इंस्ट़ॉल करेगा और आप अपने फोन में उसे अलाउ कर दें।स्टेप 10: इसके साथ ही फोन में रूट का विकल्प आएगा इसे क्लिक करते ही रूट की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।Android-phone-root-1अब आप सुचनाओं को पढ़कर आगे बढ़ते जाएं। रूटिंग की प्रक्रिया समाप्त होते ही फिनिश लिखकर आ जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget