गर्भधारण के बाद उल्टियों से बचने के टिप्‍स। garbhdharan ke baad ulti se bachne ke upaay

गर्भधारण के बाद गर्भवती महिला गर्भावस्था के विभिन्न चरणों से गुजरती है। इस दौरान महिलाओं को कई प्रकार की जटिलताओं से गुजरना पड़ता है, इसके प्रारंभिक चरणों में उल्टियां होना आम बात है। गर्भावस्‍था की पहली तिमाही में, मतली, उल्‍टी, मॉर्निंग सिकनेस आदि की समस्‍या सबसे ज्‍यादा होती है। अगर प्रेग्‍नेंसी के दौरान ज्‍यादा उल्टियां हो रही हैं तो इसका उपचार जल्‍दी करना चाहिए। उल्टियों की यह समस्या कुछ घरेलू उपायों द्वारा ठीक की जा सकती है। आइए हम आपको बताते हैं कि उल्टियां होने पर क्‍या करें। 

उल्टियों से बचने के टिप्‍स

गर्भवती को अगर उल्टी आ रही हो तो रात को एक ग्लास पानी में काले चने भिगो दें, और सुबह यह पानी पी लें। या फिर भुने चने का सत्तू पानी में घोल कर स्वादानुसार नमक या चीनी डालकर पीयें। इससे फायदा होगा।गर्भवती को खाना खाने के बाद उल्टी से बचने के लिए थोड़े मात्रा में अजवाइन अवश्य खाना चाहिए। इससे मिचली नहीं होती और खाना जल्दी हजम होता है।अदरक गर्भवती में होने वाली उल्टी रोकने का सबसे अच्छा तरीका है। यह पाचन तंत्र को ठीक कर पेट में बन रहे अम्ल को शांत करता है। जब आपको लगे की उल्टी होने वाली है, तो आप अदरक सूंघ सकती हैं, इसकी महक से उल्टी होनी रुक जाएगी।गर्भवती को उल्टी आ रही हो तो उसे एक दिन में दो तीन बार आंवले का मुरब्बा खिलाये, गर्भवती को आंवला जरूर खाना चाहिए।यदि गर्भवती को उल्टी आ रही हो तो एक लीटर पानी में एक मुट्ठी चावल भिगा दें। आधे घंटा बाद पांच ग्राम हरा या सूखा धनिया डालकर मसलकर छानकर रख लें। इस पानी को गर्भवती को चार बार में पिलायें आराम मिलेगा।गर्भवती अगर हर्र को पीसकर शहद के साथ चाटें, तो इससे उल्टी बंद हो जाएगी।यदि गर्भवस्थां के दौरान उल्टियां हो रही हों तो एक चम्मच तुलसी का रस पियें। इसे पीने से उल्टी नहीं होगी।गर्भवती के लिए भी नींबू बहुत लाभदायक है। खास कर तब जब उन्हें उल्टी या मतली की परेशानी हों। इसलिए गर्भवती महिलाओं को रोज सुबह एक गिलास पानी में एक नींबू का रस और उसमें थोड़ा सा शहद डालकर पीना चाहिए, इससे उन्हें होने वाली उल्टी रूक जायेगी। साथ ही नींबू में पाये जाने वाला विटामिन सी गर्भवती और उसके होने वाले बच्चे के लिए के लिए बहुत फायदेमंद है।गर्भवती को यदि उल्टी हो रही हो तो हरा धनिया या सूखा धनिया पीसकर उसका पानी निचोड़ कर 5-5 चम्मच करके कई बार पिलाऐं। इससे उल्टी रुक सकती है।पुदीना खाने से भी उल्टी कम हो जाती है। इस के लिए आप कुछ पुदीना के पत्ते लें उसे एक कप गर्म पानी में डाल दें, इसके बाद उसमें थोड़ी चीनी या शहद मिलाएं और 5 से 10 मिनट तक उबालें इस चाय को सुबह उठते ही पीयें। इससे आपकी उल्टी रूक जाएगी। लेकिन ध्‍यान रहें, कुछ महिलाओं को पुदीने की महक से उल्टी होती है अगर आपके साथ ऐसा है तो पुदीना ना खाएं।चार नीबू लें और उसका रस निकाल कर छान लें, 50 ग्राम सेंधा नमक पीसकर डालें। 125 ग्राम जीरा साफ करके रस में भिगा दें। जब रस बिल्कुल सूख जाये, केवल जीरा रह जाये तो इसे कांच की शीशी में भर कर रख दें। इसे गर्भवती को पिलाएं इससे उल्टी आना बंद हो जाएगा।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2