भारत के इस गांव पर है इजराइलियों का कब्ज़ा, भारतीय मर्दों की एंट्री बैन

भारत के इस गांव पर है इजराइलियों का कब्ज़ा, भारतीय मर्दों की एंट्री बैन

मनाली। दुनिया भर से लोग भारत के टूरिस्ट स्थानों पर घूमने आते हैं। भारत के ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों के आलावा बहुत से विदेशी टूरिस्ट यहां की प्राकृतिक सुन्दरता को देखने के लिए भी आते रहते हैं। आज हम आपको भारत की एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में शायद ही आपने सुना होगा। हिमाचल की वादियों में बसा कसोल गांव मिनी इजराइल के नाम से भी जाना जाता है। इस गांव की सबसे खास बात ये है कि भारत में होते हुए भी यहां भारतीय मर्दों की इंट्री पूरी तरह से बैन है।

कसोल गांव में नहीं आ सकते भारतीय, इसे बुलाते हैं मिनी इजराइल

हिमाचल प्रदेश में मनाली के पास कसोल गांव में घुसते ही तंबुओं की क़तारें और उनके सामने खड़ी मोटरसाइकिलें दिखाई देने लगती हैं। यहां जगह-जगह पर इजरायली देखने को मिलते हैं। यह गांव इजरायल से आने वाले टूरिस्टस की पहली पसंद बन चूका है। आर्मी की ट्रेनिंग लेने के बाद इजरायली नागरिक इस गांव में इतनी तादाद में आते हैं कि ऐसा लगता है यह कोई इजरायली गांव ही हो।

यहां के रेस्तरां में सारे मैन्यू हिब्रू भाषा में है। नमस्कार की जगह यहां पर लोग ‘शलोम’ बोलते हैं। इसीलिए इस इलाक़े को मिनी इजरायल कहते हैं। इस गांव में इजराइली झंडे भी कई जगह लहराते हुए दिखाई पड़ते हैं।

इस गांव में भारतीय पुरुषों के आने पर पाबंदी है। यदि कोई आ भी जाए तो यहां के स्थानीय लोग उन्हें ठहरने के लिए किराए पर कमरे ही नहीं देते हैं। भारतीय पुरुषों को इस गांव में नहीं आने देने का कारण बताते हुए यहां के लोग कहते है कि यहां आने वाले भारतीय पुरुष इजरायली महिलाओं के साथ छेडख़ानी करते हैं तथा उनकी मौज-मस्ती में खलल डालते हैं।

इजरायलियों ने  यहां क़रीब दो दशक पहले आना शुरू किया था। शुरुआत में पुराना मनाली उनका पसंदीदा ठिकाना हुआ करता था। अपने देश में अनिवार्य सैन्य प्रशिक्षण और सेवा के बाद वे यहां की पहाड़ियों में मौज मस्ती करने आया करते थे।

 

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget