Show Mobile Navigation
recentpost

गुरुवार, 11 अगस्त 2016

शायरी का खजाना shayari ka khajanA

admin - 1:10:00 am

*****
जाते वक्त उसने मुजसे अजीब सी बात
कही
तुम जिंदगी हो मेरी, और मुझे मेरी
जिंदगी से नफरत है…
एक बात हमेशा याद रखना ‘खुश-नसीब’ वोह
नहीं जिसका नसीब अच्छा है
बल्कि खुश-नसीब वोह है….जो अपने नसीब से
खुश है……
*******
शिकायत तुम्हे वक्त से नहीं खुद से होगी,
कि मुहब्बत सामने थी, और तुम दुनिया में उलझी
रही.
मेहनत से उठा हूँ,मेहनत का दर्द जानता हूँ,
आसमाँ से ज्यादा जमीं की कद्र जानता हूँ।

लचीला पेड़ था जो झेल गया आँधिया,
मैं मगरूर दरख्तों का हश्र जानता हूँ।

छोटे से बडा बनना आसाँ नहीं होता,
जिन्दगी में कितना जरुरी है सब्र जानता हूँ।

मेहनत बढ़ी तो किस्मत भी बढ़ चली,
छालों में छिपी लकीरों का असर जानता हूँ।

कुछ पाया पर अपना कुछ नहीं माना,क्योंकि
आखिरी ठिकाना मैं अपनी हस्र जानता हूँ।
    
बेवक़्त, बेवजह, बेहिसाब मुस्कुरा देता हूँ,
आधे दुश्मनो को तो यूँ ही हरा देता हूँ!!
हुआ जब इश्क़ का एहसास उन्हें;
आकर वो पास हमारे सारा दिन रोते रहे;
हम भी निकले खुदगर्ज़ इतने यारो कि;
ओढ़ कर कफ़न, आँखें बbंद करके सोते रहे।
जिसके ख़ुशी के खातिर हमने अपनोसे रिश्ता तोड़ दिया वो बेवफा अपने नए रिश्तो के खातिर हमसे ही मुँह मोड़ लिया .
दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए  हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है..!!!
"ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं."
मेरी सांसो में जो समाया बहुत लगता है;
वही शख्स मुझे पराया भी बहुत लगता है;
उनसे मिलने की तमन्ना तो बहुत है मगर;
आने-जाने में किराया ही बहुत लगता है।
तेरी यादों को 'दुलहन' बना कर,

मेरी तन्हाईयां 'जशन' मनाती हैं कभी कभी...!!!

Sultan....❣
डाली ने डाली पर नज़र डाली;
किसी ने इस पर डाली;
किसी ने उस पर डाली;
हमने जिसपर नज़र डाली;
उसके बाप ने उसकी शादी कहीं और कर डाली!
हकीकत समझो या फसाना;
अपना समझो या बेगाना;
हमारा आपका है रिश्ता पुराना;
इसलिये फर्ज था आपको बताना;
ठंड शुरू हो गयी है;
कृपया रोज मत नहाना!
मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है;
ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है;
देकर वो आपकी आँखों में आँसू;
अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है।
Sirf Hum Hain,
Hum Hain or Sirf Hum Hain un K Dil
Main,,,
Lay Doobi
Hum Ko Yehi Galat Fehmi....
: जिंदगी शुरू होती है रिश्तों से, रिश्ते शुरू होते है प्यार से,
प्यार शुरू होता है अपनों से, और अपने शुरू होते हैं आप से।
  🌹🌹
किसी भूखे का पेट भरकर भी देखो...!

सिर्फ यूँ खाली पेट रहने से 'महादेव' नहीं मिलता...!!
मौका दीजिये अपने खून को, किसी की रगों में बहने का.
ये लाजवाब तरीका है , कई जिस्मों में ज़िंदा रहने का.
❣❣Donate Blood❣❣
माना की अभी नाम और पहचान छोटी है, लेकिन एक दिन लोग लाईन लगायेंगे इस चहेरे से मिलने के लिए"...:-
‪#‎__भोलेतेरी‬#_कृपा_रही तो#एक_दिनअपना भी_ मुक़ाम होगा...!!*70_ लाख की#AUDI_कारऔर#FRONT_शीशेपे तेरा _*नाम_होगा..!
जरूरत होवै जिदे अहमियत दे हैं लोग
जरूरत खत्म होण पै अपना असलीपणा दिखा दें हैं
😒
जो 👫मिलते हैं वो 🚶🏻बिछड़ते भी हैं साहिब,

हम😍 नादान थे ...

☝🏻एक 🌄शाम की 👨‍❤️‍👨मुलाकात को 😘

  जिंदगी समझ बैठे !!
मेरा तो घणा ‪#‎माड़ा‬ टैम चाल रा है, इबकै न
थोड़ी सी ‪#‎दाढ़ी‬^मूँछ के राख ली।
.°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°
◆●◆●◆●◆●◆●◆●◆●◆●◆
●◆●◆●◆●◆●◆●◆●◆●◆●
■■■■■■■■■■■■■■■
‪#‎पड़ोस‬ की सारी ‪#‎बहू‬ ‪#‎ओल्ला‬ करण लागी
आज तो बरण न ‪#‎दिल_को_झटका‬ दे
दिया मनै न्यू बोली ,
‪#‎अब_तो_बन्द‬ कर दे
‪#‎म्हारी_गली‬ के चक्कर काटने,
मै पट गी पागल.....Julmi jaat
मोहब्बत का असर कुछ इस तरह जिन्दा कर देता हूँ मे...
..
..
बेवफाओ को भी गले लगाकर शर्मिंदा कर देता हूँ मैं..
एक बात बोलूं....!आज की हर लव स्टोरी का यही उसूल है....,तुम जिसको याद कर के रो रहे हो..,वो किसी और को खुश रखने में busy है😕.सही कहा या गलत ??
बेचैन राते बिताकर मैं किश्तें चुका रहा हूँ.. उसने एक बार मुस्कुराकर कुछ यूँ कर्ज़दार कर दिया..
कितना अच्छा लगता है ना जब मोहब्बत में कोई कहे,
.
.
क्यूँ करते हो किसी और से बात, मैं काफी नहीं आपके लिए ?
✍ मसरूफ रहने का अन्दाज़ तुम्हें
                तनहा ना करदे
                  " ग़ालिब "
       रिश्ते फ़ुरसत के नहीं तवज्जो
            के मोहताज होते हैं..!!
✨✨✨✨✨✨✨✨
ना मेरा नाम था...न दाम था...बाजार-ए- मोहब्बत में...
............,,..
"तुमने अपना बनाकर मुझे अनमोल कर दिया.".!!💞💞💞
सब फ़साने हैं दुनियादारी के,
किस से किस का सुकून लूटा है;
सच तो ये है कि इस ज़माने में,
मैं भी झूठा हूँ तू भी झूठा है।

Kabhi Kisi Ko Itni Ahmiyat Mat Do K
Jab Wo Chor Kar Jaye Toh Tum Jee Bhi Na Sako..
"कभी शाम होने के बाद.....मेरे दिल में आकर देखना,
खयालों की महफिल सजी होती है और जिक्र सिर्फ तुम्हारा होता है...!
अगर तुम आये ओ तुम्‍हे भी आजमा कर देख लेता हूं
तुम्‍हारे साथ भ्‍ाी कुछ दूर जाकर देख लेता हूं
'ना कजरे की धार ना मोतियों के हार,
ना कोई किया श्रृंगार फ़िर भी कितनी सुंदर हो
..
ये गाना किसी कंजूस प्रेमी ने ही लिखा होगा

बीवी के मेकअप के खर्चे को बचाने के लिये। 😂😭
तेरी चाहत का अब भी तलबगार हूँ मैं ऐसे,
..
...
जैसे इन्सान को मरते वक्त सिर्फ एक सांस की हसरत होती है..!!
Rv.... ✍🏻
साँसों का टूट जाना तो दस्तूर है कुदरत का,
जिस मोड़ पर अपने बदल जाये उसे मौत कहते है..
☝🏻मेरी मोहब्बत के बदले वो दर्द ही
देते है मुझे,

क्यूँ न में उनकी नफरत से ही
मोहब्बत कर लूँ🍂
अजनबी लोगोँ से बातें करना पसंद है मुझे,
अपना बनकर बेगाना होने की ये तकलीफ तो नहीँ देते!😌
अदा है, ख्वाब है,
तकसीम है, तमाशा है,
मेरी इन आँखों में एक
शख्स बेतहाशा है।
हम छोड़ देंगे तुमसे यूँ बात चीत करना,
तुम पूछते फिरोगे अपना क़सूर हमसे !!
दरिया पार बिछा कर ऑंखें बैठे हैं चुप चाप..!💘💔

इश्क़ में बहना आता हो तो आ जाओ न आप..!!💘💔
🌹✨इश्क़ ने कब इजाजत ली है आशिक़ों से....!!

वो होता है,  और होकर ही रहता है.....✨🌹

✨🌹🌹✨
माफी चाहता हूँ गुनेहगार हूँ तेरा
ऐ दिल ..
तुझे उसके हवाले किया जिसे तेरी कदर नहीं..‼
अच्छी सूरत को सँवरने की जरूरत क्या है..

सादगी भी तो कयामत की अदा होती है..
सबको प्रेम की तड़प है

कुछ कह लेते हैं

कुछ सह लेते हैं ...!!💙💔💘

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें