दामाद को दिल दे बैठी सास, दोनों ने रचाई शादी, बनी बेटी की सौतन

 


05 Aug. 12:29

नई दिल्ली: बिहार के मधेपुरा जिले के पुरैनी गांव में प्यार का एक अनोखा मामला सामने आया है। एक महिला अपनी ही बेटी के पति से प्यार कर बैठी। महिला आशा देवी ने कुछ साल पहले ही अपनी बेटी की शादी बड़े धूमधाम से की थी, लेकिन अब उसने दामाद के साथ पूर्णिया कोर्ट में शादी कर ली। शादी के गवाह कोर्ट के कुछ वकील ही बन गए। इस रिश्ते के बाद बेटी पहले तो बेहोश हो गई और उसके बाद सदमे में आ गई है।

शादी के कुछ दिनों के बाद सूरज बीमार पड़ गया। दामाद के बीमार होने की खबर सुनकर सास दामाद को देखने के लिए गई। फिर दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया। वह अपने घर लौटी, लेकिन दामाद और उसके बीच पनपा प्रेम परवान चढ़ता गया।

दोनों घंटों एक-दूसरे से फोन पर बात करते। सूरज का ससुर दिल्ली में किसी फैक्ट्री में काम करता था, इस कारण वह अक्सर आशा से मिलने भी चला जाता था। एक दिन ऐसा आया जब सूरज पत्नी को घर पर छोड़ ससुराल जा बसा।

युवक का ससुर अपनी बेटी ललिता को लेकर अपने गांव आ गया। बेटी के पिता और महिला के पहले पति ने कहा कि जब मेरे दामाद ने ही मेरी पत्नी से शादी कर ली है तो अब इसके पास अपनी बेटी को छोड़ने का क्या मतलब है। इसके साथ तो मेरी बेटी घुट-घुटकर मर जाएगी।

ग्रामीणों को जैसे ही इस शादी की जानकारी मिली तो उन्होंने पंचायत कर सास और दामाद को एक साथ रहने की अनुमति दे दी। पंचायत ने कहा कि सास और दामाद में अटूट प्रेम है तो उनको एक साथ रहने देना चाहिए। ऐसे में किसी को एतराज नहीं जताना चाहिए। पंचायत के फैसले से सास और दामाद खुश हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2