मोदी सरकार के शिकंजे में आए शाहरुख, नहीं संभले तो दो महीने में हो जाएंगे बर्बाद

 



07 Aug. 08:55

मुंबई। कालेधन का मुद्दा बीते कई दिनों से जोरों पर है। इसमें कई भारतीयों के नाम आने के बाद से सरकार और सक्रिय हो गई है। देश के बाहर काला धन रखने वाले लोगों में अब बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान का नाम भी शामिल हो गया है। शाहरुख को इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने एक नोटिस भेजा था। इस नोटिस में उनके विदेशी खातों और वहां निवेश के बारे में जानकारी मांगी गई थी। खबर है कि शाहरुख के काले धन के बारे में मोदी सरकार को कुछ अहम जान‍‍कारियां हासिल हुई हैं। जिसके चलते सरकार ने 30 सितंबर तक शाहरुख को कालेधन की जानकारी देने का समय दिया है।

शाहरुख खान को सवालों की लंबी लिस्ट भेजी गई है

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने शाहरुख से उनकी विदेशों में चल रही कंपनियों के बारे में जानकारी मांगी गई है। शाहरुख को सवालों की एक लंबी-चौड़ी लिस्‍ट भेजी गई है। यह नोटिस इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन-131 के तहत भेजा गया है। इसके तहत जानकारियों की जांच भी की जा सकती है। शाहरुख के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय पहले से ही एक ऐसी ही जांच कर रहा है। इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की ओर से किए गए सवालों पर शाहरुख की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। वहीं इससे पहले इन्‍फोर्समेंट डायरेक्‍टरेट की जांच की वजह से शाहरुख खान पहले से ही दबाव में हैं। आपको बता दें कि जब ईडी की ओर से शाहरुख को नोटिस दिया गया था उसी दौरान शाहरुख ने यह कहकर सनसनी फैला दी थी कि देश में बहुत असहिष्‍णुता है।

बताया जा रहा है कि आयकर विभाग की ओर से जारी इस नोटिस के पीछे सरकार की मंशा ये है कि शाहरुख और उनके जैसे अन्‍य लोग 30 सितंबर तक अपनी काले धन की जानकारी सार्वजनिक कर दें। अब ये देखने वाली बात होगी कि मोदी सरकार की ओर से मिले 30 सितंबर तक के अल्‍टीमेटम का शाहरुख खान फायदा उठाते हैं या नहीं। आपको बता दें कि मोदी सरकार की स्‍कीम के तहत कोई भी अपनी काली कमाई को 30 सितंबर तक सार्वजनिक कर सकता है। इसके तहत उसे रकम पर टैक्‍स के अलावा 45 प्रतिशत जुर्माना भरना होगा।

इससे पहले अमिताभ का नाम भी आया था कालेधन मामले में

इससे पहले पनामा पेपर लीक मामले में अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय बच्चन कि अलावा रियलिटी कंपनी डीएलएफ के ऑनर केपी सिंह और इंडिया बुल्स के समीर गहलोत व उनके परिजनों के नाम आया था। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, कभी अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीम के मददगार रहे इकबाल मिर्ची का नाम भी था, जिनकी तीन साल पहले लंदन में मौत हो चुकी है। इसके अलावा अपोलो टायर के प्रोमोटोर गौतम अडाणी के बड़े भाई विनोद अडाणी का भी नाम शामिल था।

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget