मैं आलसी थी, नहाने से नफरत करती थी : कंगना





मुंबई, 10 अगस्त :भाषा: अभिनेत्री कंगना रनौत का कहना है कि खुद को साफ सुथरा रखने से उनके जीवन में अच्छे बदलाव आने शुरू हुए।

‘तनु वेड्स मनु रिटर्न्‍स’ स्टार का कहना है कि वह बहुत ही आलसी हुआ करती थीं और नहाना उन्हें कतई पसंद नहीं था।

संवाददाताओं से बातचीत में कंगना ने कहा, ‘‘मैं बहुत आलसी थी, और नहाने से तो नफरत थी। मेरे माता-पिता तंग आ चुके थे। ईमानदारी से कहूं तो उस दौरान मेरे जीवन में कुछ भी अच्छा नहीं हुआ। मेरे कोई दोस्त नहीं बने, कोई अवसर नहीं मिला।’’ उसने कहा, ‘‘फिर मैंने तत्वों, सम्मिश्रण और उर्जा के बारे में काफी पढ़ा और मुझे पता चला कि उर्जा तीन तरह की होती है और उनमें से एक है स्वच्छता जो सबसे महत्वपूर्ण है। यह सच्चाई है।’’ स्वच्छ भारत अभियान पर बनी ‘डोंट लेट हर गो’ शीषर्क वाली लघु फिल्म के लांच पर कंगना संवाददाताओं से बातचीत कर रही थीं।

फिल्म में कंगना देवी लक्ष्मी के रूप में नजर आएंगी।

‘क्वीन’ की अभिनेत्री का कहना है कि इन तकनीकों को अपनाने से उनका जीवन बदल गया।

कंगना ने कहा, ‘‘मैंने वेदांत पढ़े, स्वामी विवेकानंद के रास्ते पर चली। मैंने सीखा कि कैसे खुद को और उर्जाओं के उपर उठाना है, और बदलाव करने हैं। जैसे कई तत्व थे.. आंतरिक और बाह्य स्वच्छता।’’ उसने कहा, ‘‘मैंने बाह्य स्वच्छता से शुरूआत की.. यह मूल काम है। जब मैंने इससे शुरूआत की तो जीवन में चीजें बदलनी शुरू हो गयीं। अब मैं नहाती हूं, स्वच्छ रहती हूं और सुनिश्चित करती हूं कि गंदगी ना फैलाउं। पिछले 12 साल में मैंने कचरा नहीं फैलाया है।’’ प्रदीप सरकार के निर्देशन में बनर इस लघु फिल्म में ईशा कोप्पिकर और ओंकार कपूर भी हैं। इसके लिए मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने अपनी आवाज दी है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2