घोर कलयुगी भाई ने राखी बांधने आई बहन को लात-घूंसों से पीटा

 

भाई-बहन के अटूट प्रेम के पर्व रक्षाबंधन पर जहां भाई कलाई पर बांधे गए एक धागे से बहन की रक्षा का संकल्प लेता है, वहीं एक कलियुगी भाई ने राखी बांधने उसके घर पहुंची बहन को लात घूंसों से पीटकर घर से निकाल दिया। भाई ने बहन के साथ गई अपनी बूढ़ी मां को भी पीट डाला।

उत्तराखंड के रुद्रपुर में ग्राम अब्दुल्ला नगर गदरपुर निवासी बचन कौर पत्नी स्व. रतन सिंह ने रुद्रपुर कोतवाली पहुंचकर कोतवाल जेसी पाठक को अपनी व्यथा सुनाई।

उसने बताया कि गुरुवार सुबह वह अपनी मां के साथ ग्राम रायपुर निवासी अपने भाई सोहन सिंह के घर उसे राखी बांधने पहुंची। भाई और उसकी पत्नी जागीर कौर ने उसे अपने घर आने पर फटकार लगा दी।

मां ने जब भाई को समझाते हुए राखी के दिन बहन पर गुस्सा नहीं करने की बात कही तो भाई और उसकी पत्नी ने उन दोनों को लात घूंसों से मारना शुरू कर दिया।

दोबारा उस गांव में आने पर जान से मारने की धमकी

चीख पुकार सुनकर पड़ोस में रहने वाले चाचा करनैल सिंह, उनकी पत्नी बलवीर सिंह, बहू कुलवंत सिंह और बड़ी बहन कृपाल कौर ने आकर उन्हें बचाया।

उन लोगों ने जब भाई को समझाने का प्रयास किया तो भाई ने उसे दोबारा उस गांव में आने पर जान से मारने की धमकी देकर घर से निकाल दिया। कोतवाल जेसी पाठक का कहना है बचन कौर के भाई सोहन ने बेहद अमानवीय हरकत की है। जांच के बाद आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।

मां ने दी संपत्ति, बेटे ने की बेइज्जती

कोतवाली पहुंची सोहन की बहन बचन कौर ने बताया कि कुछ समय पहले तक उसकी मां भाई सोहन के साथ ही रहती थी। एक वर्ष पूर्व मां ने अपनी संपत्ति भाई के नाम कर दी।

इसके बाद भाई का मोह बूढ़ी मां से खत्म हो गया और उसने मारपीट कर मां को घर से निकाल दिया। तब से मां उसके साथ ही रहती है और आज त्यौहार पर जब मां उसके साथ भाई से मिलने पहुंची तो भाई ने मां के पैर छूने की बजाय उसे लात मारकर भगा दिया

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2