कल नागपंचमी है।नाग पंचमी पर इन बातों का रखें ध्यान

 

नाग पंचमी पर इन बातों का रखें ध्यान

06 Aug. 06:30

देहरादून कल नाग पंचमी है। इस दिन नाग देवता की पूजा की जाती है। हम आपको बताते हैं कि इस दिन नाग देवता की पूजा करने से क्या फायदे होते हैं।  कहा जाता है कि इस दिन नागों की पूजा करने से सर्पों का भय दूर होता है और व्यक्ति के जीवन में खुशहाली आती है। इस मौके के लिए मंदिरों में विशेष तैयारियां की गई हैं।

नाग पंचमी के दिन नाग देवता को पिलाएं दूध

नाग पंचमी का त्यौहार उत्तराखंड में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। इस दिन नाग देवता और शंकर भगवान की विशेष पूजा-अर्चना की जाएगी। मंदिरों में नाग देवता का दूध, दही, शहद आदि से अभिषेक किया जाएगा।

आचार्य भरत राम तिवारी के मुताबिक नाग पंचमी पर व्रत करने से सर्पों का भय दूर होता है। नाग देवता की पूजा करने के साथ ही उन्हें मालपुआ चढ़ाना चाहिए। इस दिन सोना, चांदी, तांबा, पीतल आदि से निर्मित नागों का पूजन करें। नाग देवता का रुद्राभिषेक कर नौ नागों को नदी में प्रवाहित करें। इससे व्यक्ति के जीवन में खुशहाली आती है। साथ ही इस मंत्र का करें जप: ओम कुरु कुल्ये हुं फट् स्वाहा।

सुशांत राज के मुताबिक नागों को जलाशय में प्रवाहित करने के बाद स्नान करें। इसके पश्चात वस्त्रों का त्याग करें। नवीन वस्त्र धारण करें। नाग स्तोत्र का पाठ करें। घर के मुख्य द्वार पर गोबर से सर्पाकृति बनाकर उसकी पूजा करें। इन नौ प्रकार के नागों की होती है पूजाः अनन्त, वासुकी, तक्षक कर्कोटक, महापद्म, नील, शंखपाल, कुलिक, कालिय।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2