यहां शादी के लिए दुल्हे का होता है किडनैपिंग, न करने पर पड़ती है लाठी

01 Aug.2016 13:29

पटना.  'पकड़ौआ शादी' अर्थात लड़के का अपहरण कर उसकी जबरन शादी। बिहार में इसकी बहुत पुरानी परंपरा है। इस परंपरा में लड़की वाले अपने पसंद के लड़के को अगवा कर शादी के लिए मजबूर करते हैं। शादी से मना करने पर लड़के को लाठी से पीटा जाता है। दो दिन पहले भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है। 'पकड़ौआ शादी' की बिहार में बहुत पुरानी परंपरा है...

 

पटना के राम कृष्णा नगर से एक लड़के का अपहरण हो गया था। अगवा किए गए लड़के की शादी कराने के बाद उसे घर पहुंचा दिया गया। इस मामले में लड़का पक्ष की ओर से परसा थाने में केस दर्ज कराया गया है। इतिहासकार डेजी नारायण की माने तो बिहार में इस प्रकार की घटनाएं मध्यकालीन युग से होते आ रहे हैं। 

बिहार के बेगुसराय जिले में 'पकड़ौआ शादी' का प्रचलन बहुत पुराना है। इसकी जड़ में दहेज प्रथा है। डेजी कहती हैं, "दहेज ऐसी शादियों का बड़ा कारण है, लेकिन ऐसी शादियों में लड़की चारों तरफ से घिर जाती है और उस पर कई तरह के अत्याचार होते हैं।

दहेज जैसी बुराई से बचने के लिए लड़की के पिता अपनी बेटी की ऐसी शादी वर्षों से ऐसे ही करते आ रहे हैं। डेजी कहती है कि यह अपराध है, लेकिन एक बार शादी होने के बाद लड़के पहले इसे निर्वाह करते थे। जब लड़का लड़की को पत्नी के रूप में घर ले जाने से इंकार करता हैं तो लड़की खुद पति के घर पहुंच जाती है। इस तरह के अपराध करने की इजाजत न कानून देता है और न समाज।

केस-1

शादी का विरोध करने पर हुई पिटाई 

परसा बाजार थाना के खैराटोली का रहने वाला अभिषेक पटना के रामकृष्णा नगर में रहकर अपनी पढ़ाई कर रहा था। दो दिन पहले कुछ लोग शादी के लिए अभिषेक का अपहण कर लिया गया। अभिषेक की ओर से शादी से इंकार करने पर उसकी जमकर पिटाई की गई। उसके पीठ और शरीर के कई हिस्सों में जख्म के निशान हैं। अभिषेक शनिवार को जख्मी हालत में अपने गांव पहुंचा। जखमी अभिषेक की हालत देख उसके परिजन इससे आक्रोशित हो गए और लड़की वाले के खिलाफ जबरन शादी कराने, अपहरण और मारपीट का मामला दर्ज कराया है।

पिस्टल के बल पर कराया शादी 

अभिषेक के अनुसार, नालंदा के बेना थाना के चंदौर गांव में उसकी शादी रामवतार पासवान की बेटी कौशिकी से पिस्टल के बल पर कराई गई। विरोध करने पर उसके साथ मारपीट की गई। यही नहीं शादी कराने के बाद लड़की के परिजन हथियार का खौफ दिखाकर दोनों को बिहारशरीफ कोर्ट ले गए और शादी का निबंधन भी करा दिया।

थाना ने मामला दर्ज करने से किया इंकार

इधर, इस घटना की प्राथमिकी कराने के लिए अभिषेक और उसके पिता परसा बाजार थाना गए तो वहां यह कहकर एफआईआर नहीं लिया गया कि अभिषेक को रामकृष्णानगर थाना इलाके से अगवा किया गया। बाद में पुलिस ने परसा बाजार थाने की पुलिस ने इन लोगों का बयान दर्ज कर लिया। सदर डीएसपी पीके मंडल ने कहा कि परसा बाजार थाने की पुलिस ने उन लोगों का बयान ले लिया है। इसे रामकृष्णनगर थाना भेजा जाएगा।

लड़का के इंकार करने लड़की पहुंची थाने

 पुलिस के मुताबिक शादी करने के दूल्हा-दुल्हन को लड़की वाले ने घर तक गाड़ी से छोड़ा था। जब अभिषेक ने लड़की को साथ रखने से इनकार कर दिया तो लड़की भी परसा बाजार थाने पहुंच गई है। बहरहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।  

केस - 2

पहले भी होते रही हैं ऐसी शादी

बेगूसराय ज़िला तो 'पकड़ौआ शादी' के नाम से जाना जाता रहा है। दो वर्ष पहले बेगूसराय के मकदमपुर गांव में भी ऐसी ही एक शादी हुई थी। लड़के ने उस लड़की को रखने से इंकार कर दिया तो दुल्हन बारात लेकर ससुराल पहुंची और घर के सामने ही धरने पर बैठ गई थी। बाद में लड़के वाले ने उस लड़की को अपनी बहू के रुप में स्वीकार कर लिया था।

क्या था पूरा मामला

बात अप्रैल 2014 की है। बेगूसराय जिला के भरौल गांव के महाकांत ईश्वर की बेटी प्रीति कुमारी की शादी मकदमपुर के धीरज ठाकुर से हुई थी। लड़के वाले इस शादी से ही इनकार कर रहे थे। जबकि लड़की पक्ष का कहना था कि शादी लड़के की मर्ज़ी से हुई थी, पर दहेज की मांग पूरी न करने से उन्हें परेशान किया जा रहा है। धीरज के भाई ने भी धीरज के अपहरण का मामला दर्ज कराया था। पुलिस जब तक वहां पहुंचती तब तक शादी हो चुकी थी, इस लिए पुलिस ने आगे की कोई कार्रवाई नहीं की थी। लेकिन तब लड़की वाले के नाते-रिश्तेदारों ने भी यह स्वीकारा था कि ये पकड़ौआ शादी हुआ था। 

लड़के के इंकार पर लड़की बैठी थी धरना पर

लड़के के इंकार करने पर हक के लिए लड़की लड़के वाले के घर के ठीक सामने ही धरना पर बैठ गई। लड़के वाले की ओर से लड़की को अपनी बहू स्वीकार करने के बाद ही यह मामला शांत हुआ था।

में देखिए फोटो...

 बेटी प्रीति कुमारी की शादी मकदमपुर के धीरज ठाकुर से हुई थी। 




एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget