बिना ऑपरेशन निकल जाएगी पथरी,पथरी खत्म करने का घरेलु देशी नुख्शा Bina operation pathri nikalne ka nukhsha

बिना ऑपरेशन निकल जाएगी पथरी, आजमाएं ये 10 घरेलू नुस्खे


नई दिल्ली। किडनी में स्टोन यानी पथरी यूरिन सिस्टम की एक बीमारी है। यह बॉडी में कैल्शियम की मात्रा बढऩे के कारण होती है। जब यह कैल्शियम गाढ़ा होने लगता है, तो पथरी बननी शुरू हो जाती है। जब ये स्टोन्स बड़े हो जाते हैं, तो यूरिनरी सिस्टमी में पहुंचकर फंक्शन्स में गड़बड़ी पैदा करते हैं। ऐसे में पेशेंट को भारी दर्द, बार-बार उल्टी आना, रुक-रुक कर यूरिन आना जैसी परेशानियां होने लगती हैं। कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से पथरी की प्रॉब्लम से राहत पाई जा सकती है। हम आपको ऐसे ही 10 नुस्खों के बारे में बता रहे हैं...

1- पेट में पथरी की बीमारी को ठीक करने के लिए खीरा, गाजर तथा जामुन का रस बहुत ही उपयोगी होता हैं। पेट में पथरी की बीमारी के होने पर रोगी को प्रतिदिन खीरा, गाजर और जामुन के रस का सेवन करना चाहिए। इन तीनों के रस का सेवन करने से पथरी की बीमारी में आराम मिलता हैं।

2- आम के ताजे पत्तो का प्रयोग करने से भी पथरी में आराम हो जाता हैं। इसके लिए आम के ताजे पत्तों को तोड़कर 2 या 4 दिन छाया में सुखा लें। जब आम के पत्ते सुख जाए तो उन्हें पीस लें। अब एक गिलास बासी पानी लें और उसके साथ आम के चुर्ण को फांक लें। पथरी की बीमारी में राहत मिलेगी। आम के ताजे पत्तो को रोजाना पानी के साथ फांकने से पथरी की बीमारी जल्दी ही ठीक हो जाएगी।

3- सेब का रस पेट की पथरी गो गलाने में बहुत ही सहायक सिद्ध होता हैं। सेब के रस का सेवन करने से पेट में और पथरी बनना बंद हो जाती हैं। सेब का रस पथरी की बीमारी के होने पर रोजाना दिन में तीन या चार बार पीना चाहिए. सेब के रस का रोजाना सेवन करने से पेट की पथरी धीरे-धीरे गल कर यूरिन के जरिए बाहर निकल जाती हैं।

4- बादाम का सेवन करने से भी पथरी की बीमारी में आराम मिलता हैं। पथरी की बीमारी को दूर करने के लिए दिन में 4 या 5 बादाम प्रतिदिन खूब चबा-चबा कर खाए। बादाम को खूब चबा-चबा कर खाने से पेट की पथरी की बीमारी एक महीने में ही खत्म हो जाएगी।

5- नारियल का पानी का सेवन करने से पथरी की बीमारी में लाभ होता हैं। पथरी की बीमारी के होने पर प्रतिदिन नारियल पानी का सेवन करना चाहिए। पथरी के होने पर पेट में दर्द होता हैं। नारियल पानी के सेवन से पथरी में तो आराम होता ही हैं। साथ ही साथ पेट के दर्द में भी राहत मिलती हैं।

6- अगर किसी व्यक्ति के मूत्राशय में पथरी हो गई हैं तो उसे आंवले के चुर्ण के साथ एक मूली का सेवन करना चाहिये। आंवले के साथ मूली खाने से मूत्राशय की पथरी में आराम हो जाता हैं।

7- पेट की पथरी को दूर करने के लिए प्याज का रस बहुत ही उपयोगी होता हैं। इसके लिए प्याज का रस लें। अब उसमे एक चम्मच चीनी को घोलकर शर्बत बना लें। प्याज के रस का सेवन लगातार 12 या 14 दिनों तक करें। आपके पेट की पथरी गल कर बाहर निकल जाएगी।

8- पथरी की बीमारी को ठीक करने के लिए चुकन्दर का रस का सेवन करना भी बहुत ही उपयोगी सिद्ध होता हैं। पेट की पथरी की बीमारी को दूर करने के लिए 40 मिली। चुकन्दर के रस का सेवन प्रतिदिन करें। चुकन्दर के रस को दिन में 5-6 बार पीना चाहिए। चुकन्दर के रस को रोजाना पीने से पेट की पथरी की आसानी से गल जाएगी।

9- पेट की पथरी को गलाने में चौलाई की सब्जी बहुत ही सहायक होती हैं। पथरी की बीमारी के होने पर चौलाई की सब्जी का सेवन प्रतिदिन करना चाहिए। प्रतिदिन चौलाई की सब्जी को खाने से पेट में स्थित पथरी गल कर बाहर निकल जाती हैं।

10- करेले का रस और छाछ को पीने से मूत्राशय की पथरी, पित्त की थैली की पथरी तथा किडनी की पथरी में अर्थात तीनों प्रकार की पथरी में लाभ होता हैं। इसके लिए करेले के रस को छाछ के साथ प्रतिदिन पीए।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 दो और 4 चार लाइन शायरी Do Or Chaar Line Touching Shayari

हीर-रांझा के प्यार की कहानी- Love story of heer ranjha part-2