जन्माष्टमी से पहले जानें, भगवान विष्‍णु को कैसे करें प्रसन्न Bhagwan Visnu Ko Kese Kare Prasanna? Janmashtami 2016





पवित्र माह सावन के समाप्त होते ही भाद्रपद (भादो) महीना शुरू होता है। भाद्रपद कृष्ण अष्टमी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कहते हैं, क्योंकि यह दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिवस माना जाता है। जिसे कृष्ण जन्माष्टमी के नाम से जाना जाता है। इस वर्ष 25 अगस्त को जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा। जानते हैं, कुछ महत्वपूर्ण उपाय जिससे हम प्रभु को प्रसन्न कर सकें, ताकि हमारी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकें।

हिंदू धर्म के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण भगवान विष्णु के अवतार हैं। वहीं सनातन धर्म के अनुसार भगवान विष्णु सर्वपापहारी पवित्र और समस्त मनुष्यों को भोग व मोक्ष प्रदान करने वाले प्रमुख देवता हैं। वैसे तो भगवान विष्णु ने अभी तक 23 अवतारों को धारण किया, लेकिन इन अवतारों में उनके सबसे महत्वपूर्ण अवतार श्रीकृष्ण व श्रीराम माने गए हैं।

ऐसे करें भगवान को प्रसन्न

विष्‍णु पुराण के अनुसार जो व्यक्ति भगवान विष्‍णु को प्रसन्न रखना चाहते हैं और उनकी कृपा पाना चाहते हैं उन्हें अपने काम से मतलब रखना चाहिए। साथ ही उन्हें इस बात का भी ध्यान रहना चाहिए की दूसरों की निंदा करने से बचना है।

प्रभु को प्रसन्न करने के लिए इस बात को ख्याल रहे कि जितना अपने पास धन-संपत्ति हो उसी में संतुष्ट रहें, दूसरों के धन के प्रति लालच न करें।

पराई स्‍त्री के प्रति गलत नजर व काम भाव से बचना चाहिए। साथ ही गुरुजनों, देवता आदि के प्रति बुरे शब्द नहीं कहने पर ही भगवान कृष्ण उनसे प्रसन्न रहते हैं।

जो व्यक्ति झूठ बोलकर दूसरों को बदनाम करने की कोशिश करता है, उसे अगले जन्म में इसका दंड भोगना पड़ता है। इसलिए दूसरों पर झूठे इल्जाम लगाकर उन्हें बदनाम न करें।

जीवों के प्रति दया भाव रखें, किसी जीव की हत्या या उन्हें चोट पहुंचाने की कोशिश न करें। इसके अलावा किसी के प्रति अपना-पराया या फिर शत्रु आदि का भाव न रखकर सबके साथ समभाव रखना चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget