होशियार…मार्केट में आ गए हैं 10 रुपये के नकली सिक्के… ऐसे पहचानें-

 

नई दिल्ली: भारतीय मार्केट में नकली नोटों के बाद अब नकली सिक्के भी मिलना शुरू हो गए हैं। बताया जा रहा है कि इस समय बाजार में 10 रुपये के नकली सिक्कों के चलन ने काफी रफ़्तार पकड़ रखी है। अभी तक 10 रुपये के कई सिक्के बरामद भी हो चुके हैं। राजस्थान-यूपी बॉर्डर के गांव-शहरों के साथ-साथ, जयपुर में भी कई जगहों पर लोगों ने 10 रुपये के सिक्कों के लेनदेन पर रोक लगा दी है।

10 रुपये के नकली सिक्कों को लेकर रहें सचेत

दरअसल, आम जनता से लेकर व्यापारियों तक को 10 रुपये के सिक्के में असली नकली की पहचान करने में काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इसी वजह से आम लोग और छोटे व्यापारियों ने इसे चलन से बाहर कर दिया है। वे न तो 10 रुपये का सिक्का ले रहे हैं और न ही किसी को दे रहे हैं।

बताया जा रहा है कि नकली सिक्का बनाना नकली नोट बनाने से 100 गुना ज्यादा आसान होता है। एक्सपर्टों का कहना है कि 10 रुपये का नकली सिक्के बनाने के लिए पहले एक लोहे की डाई तैयार की गई होगी। जिससे एक सिक्के तैयार किये जाते होंगे।

उनका कहना है कि सांचे में मेटल को लिक्विड के रूप में डालकर दूसरी सांचे का उस पर दबाव बनाकर जाली सिक्का तैयार किया जा सकता है। एक सिक्का तैयार होने में करीब 15 सेकंड का समय लगता है। छोटी सी जगह पर ये काम संभव है। नकली सिक्कों में क्या-क्या मेटल यूज हुआ। ये जांच का विषय है।

बताया जा रहा है कि इन नकली सिक्कों का खुलासा उस वक्त हुआ जब पिछले दिनों एसीबी ने कुछ संदिग्ध सिक्के भारतीय रिजर्व बैंक(आरबीआई) को पड़ताल के लिए भेजे थे। हालांकि, अभी तक आरबीआई ने इसे नकली होने की रिपोर्ट नहीं दी है।

उधर भरतपुर शहर में तैनात सीओ आवडदान रत्नू ने बताया कि कुछ दिन पहले बाजार में सिक्के नहीं लेने की बात तो थाने में आई थी लेकिन इस संबंध में आगे कोई पड़ताल नहीं हुई। उनका दावा है कि भरतपुर शहर में सिक्के पहुंचे होंगे लेकिन निर्माण का कोई मामला नहीं आया।

 

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget