सेक्स ज्ञान : फैक्ट्‍स कैसे-कैसे... जरूर पढ़ें और जाने।

कुछ समय पहले शोधकर्ताओं ने बताया कि मनुष्य के वीर्य में कम से कम 30 तत्वों की थोड़ी-थोड़ी मात्रा होती है। जो विभिन्न वीर्य में पाए जाते हैं उनमें नाइट्रोजन, फ्रक्टोज, लैक्टिक एसिड, एसकॉर्बिक एसिड, आइनोसिटाल, कोलेस्ट्रॉल, ग्लूटाथाइन, क्रिएटिन, पाइरिव्यूविक एसिड, साइट्रिक एसिड, सॉरबिटॉल, यूरिया, यूरिक एसिड और विटामिन बी-12 के अलावा बहुत सारे साल्ट्‍स और एंजाइम्स होते हैं।

* वीर्य को स्पर्म बैंक में -321 डिग्री फारेनहाइट के तापमान पर रखा जाता है। इस तापमान पर इसे अनिश्चितकाल के लिए सुरक्षित रखा जा सकता है।

* एक औसत आदमी का सेक्सुअल पीक (चरमोत्कर्ष) का समय 17-18 वर्ष होता है।

* वीर्य में पाए जाने वाले स्पर्म की संख्या कितनी हो सकती है? एक कैप्सूल में इतने स्पर्म हो सकते हैं कि इनसे इतनी जनसंख्‍या बनाई जा सकती है जितनी फिलहाल पृथ्वी की है। तनाव में या उत्तेजित होने पर एक छोटा निष्क्रिय लिंग, बड़े की तुलना में अधिक बढ़ोतरी हासिल करता है।

* एक चम्मच वीर्य में करीब 5 कैलोरी होती है। एक बार सेक्स करने पर करीब 100 कैलोरी खर्च हो जाती है।

* एक आदमी का वीर्य निकलता है तो उसमें आमतौर पर 20 से 50 लाख तक स्पर्म हो सकते हैं।

* जब पुरुष और महिला सेक्स के चरम सुख की अवस्था में हों तब इस स्थिति में दोनों की हृदयगति 140 प्रति मिनट होती है।

* ज्यादातर पुरुषों (जो कि 40 वर्ष से कम उम्र के हों) के लिंग 10 सेकंड में उत्तेजित हो जाते हैं।

* जब एक पुरुष के लिंग से वीर्य निकलता है तो उसकी गति कितनी हो सकती है? यह गति होती है कि 22.9 मील प्रति घंटा अर्थात 100 मीटर की दौड़ में रिकॉर्ड बनाने वाले धावक की गति से भी तेज होती है, जबकि स्पर्म की गति बहुत धीमी होती है।

* एक औसत स्पर्म 1 घंटे में 7 इंच तक आगे बढ़ पाता है। अगर बीच में कोई बाधा नहीं हो तो एक आदमी का वीर्य 12 इंच से लेकर 24 इंच तक जा सकता है।

* दुनिया में उत्तेजित सबसे बड़े लिंग की लंबाई 13 इंच नापी गई है, जबकि सबसे छोटे की लंबाई एक सेमी थी।

* एक औसत वयस्क आदमी के अंडकोष में इतने स्पर्म होते हैं कि इन्हें एक चौथाई मील तक फैलाकर रखा जा सकता है।

* 75 फीसदी व्यक्तियों का वीर्यपतन 3 मिनट से भी कम समय में होता है।

* एक औसत आदमी अपने जीवनकाल में 17 लीटर वीर्य निकालता है, जिसमें आधा अरब (ट्रिलियन) स्पर्म होते हैं। जब एक आदमी सेक्सुअल तौर पर उत्तेजित हो जाता है तो उसके अंडकोष के आकार में 50 फीसदी तक बढ़ोतरी हो सकती है।

* 15 फीसद वयस्क अपने काम के स्थान पर यौन संबंध बना लेते हैं।

* दुनिया के 41 फीसदी पुरुष ऐसे होते हैं, जो कि अधिकाधिक बार सेक्स संबंध बनाना चाहते हैं, पर ऐसी महिलाओं की संख्या 29 फीसदी होती है।

* ग्रीक दंपति वर्ष में औसतन 138 बार सेक्स संबंध बनाते हैं, जो कि दुनिया में सबसे ज्यादा होता है। इसकी तुलना में जापानी दंपति वर्षभर में मात्र 45 बार ही संबंध बनाते हैं।

* 5 फीसदी वयस्क ऐसे होते हैं, जो कि प्रतिदिन सेक्स करते हैं। 20 फीसदी ऐसे होते हैं, जो कि प्रति सप्ताह में तीन-चार बार ऐसा करते हैं। अमेरिका में रहने वाले 80 फीसदी लोगों का खतना होता है।

* वैज्ञानिकों का कहना है कि एक व्यक्ति कितनी बार सेक्स करता है और उसकी उम्र की एक्सपेक्टेंसी में सीधा संबंध होता है। मनुष्यों को शांत करने वाली गोली वेलियम की तुलना में सेक्स 10 गुना अधिक प्रभावी होता है।

* सेक्स करने से सिरदर्द समाप्त होता है, इससे तनाव खत्म हो जाता है, जिससे मस्तिष्‍क की रक्त वाहिनियां सिकुड़ जाती हैं।

* किसी भी समय पर 25 फीसदी आदमी सेक्स के बारे में सोचता रहता है। यौन अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि जिस व्यक्ति के ‍अंडकोष (टेस्टीज) जितने ज्यादा बड़े होते हैं, उसके ज्यादा सेक्स संबंध होने की संभावना होती है।

* एक औसत आदमी का लिंग तब उत्तेजित हो जाता है, जब उसमें में 2 चम्मच रक्त एकत्र हो जाता है।

* अमेरिकी पोर्नोग्राफी पर इतना पैसा खर्च करते हैं कि उसका आधा भाग वे बि‍स्किट खरीदने पर खर्च करते हैं।

* मनुष्य के अलावा बोनोबोस (चिम्पांजी) और डॉल्फिन ऐसे प्राणी होते हैं, जो कि केवल मजा लेने के लिए सेक्स संबंध बनाते हैं।

* 30 फीसदी से अधिक पुरुष समय पूर्व स्खलन का शिकार होते हैं, जबकि 10 फीसदी लोग नपुंसकता के शिकार होते हैं।

* हस्तमैथुन के जरिए अवसाद से छुटकारा पाया जा सकता है। समलैंगिक पुरुषों की तुलना में स्ट्रेट पुरुषों के लिंग आकार में छोटे होते हैं।

* अपनी औपचारिक शिक्षा में एक व्यक्ति जितना अधिक समय खर्च करता है, उसे उतना ही ज्यादा स्वप्नदोष होता है।

* किसी और स्थान की तुलना में एक व्यक्ति बिस्तर में होने पर ज्यादा झूठ बोलता है। सेक्स करने के लिए 34 फीसदी पुरुष झूठ बोलते हैं, जबकि ऐसा करने वाली महिलाओं की संख्या केवल 10 फीसदी होती है।

* 70 फीसदी पुरुष और महिलाएं जब सेक्स कर रहे होते हैं तब वे किसी तीसरे व्यक्ति के बारे में सोच रहे होते हैं। इसी तरह दो तिहाई धावकों का भी मानना है कि वे दौड़ते समय सेक्स के बारे में सोचते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget