सुल्तान फिल्म देखने के बाद हमे लगा कि एक कविता इसी बेस पर लिख ही देनी चाहिए ।


तो लीजिए हाजिर है
बेबी को बेस पसंद है ।
शहर की छोरी को फेस पसंद है ।
गाव की छोरी को भैस पसंद है ।
दुकानदार को कैश पसंद है ।।
पर हमको तो भारत देश पसंद है ।।
बेबी को बेस पसंद है ।
गंजो को केश पसंद है ।
सास बहू मे टेस पसंद है ।
बच्चों को तो नयी ड्रेस पसंद है ।।
हा बेबी को बेस पसंद है ।
विश्वनाथन आनंद को चेस पसंद है ।
मार्टीना हिंगिस को पेस पसंद है ।
मोदी जी को तो विदेश पसंद है ।
पर हमको तो अपना भारत देश पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।
बेबी को बेस पसंद है ।
स्मृति ईरानी को बेमतलब का तैश पसंद है।
सपाइयो को उनका उत्तर प्रदेश पसंद है ।
आतंकियो को मोहम्मद ए जैश पसंद है ।।
पर हमको तो भारत देश पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।
मोदी जी को रोज नयी नयी ड्रेस पसंद है ।
मायावती जी को तो चुनावी कैश पसंद है ।
सोनिया जी को राहुल का तैश पसंद है।
मुलायम सिंह यादव जी को चुनावी रेस पसंद है ।
पर आजम खाँ को बस अपनी भैस पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।
विद्यार्थीयो को पेपर का गेस पसंद है ।
एथलीटो को मैंदान मे रेस पसंद है ।
हास्टलरो को भाई बढिया मेस पसंद है ।
पर हमको तो भारत देश पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।
सपाइयो को उत्तर प्रदेश पसंद है ।
उत्तर प्रदेश को अब अखिलेश पसंद है ।
मुझको तो पूरा देश पसंद है।।
पर बेबी को केवल बेस पसंद है ।।

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget