संदेश

May, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कुंग्फू जैसे मार्शल आर्ट के संस्थापक कोई चाइनीज़ नही भगवान विष्णु के अवतार “भगवान परशुराम” थ

चित्र
कुंग्फू जैसे मार्शल आर्ट के संस्थापक
कोई चाइनीज़
नही भगवान विष्णु के
अवतार “भगवान परशुराम” थकुंग्फू जैसे मार्शल आर्ट का नाम सुनते ही
सभी के दिमाग में ‘ब्रूस ली’ या कोई
चाइनीज़ की छवि आ जाती
है। उसकी तरह शरीर को पूरा घुमाकर,
ना जाने कैसे-कैसे करतब करके दुश्मनों के छक्के छुड़ा देने
की स्टाइल शायद ही आज के समय में
किसी के पास होगी। लेकिन ब्रूस
ली ही इस आर्ट को आगे बढ़ाने के लिए
जिम्मेदार है, ऐसा सोचना भी गलत है।
अब तक आपको और दुनिया को मार्शल आर्ट के बारे में
यही पढ़ाया और प्रचारित किया जाता रहा है
की यह विधा तो चीन की देन
है, जबकि हकीक़त इसके ठीक उलट
है। इस कला का ज्ञान चीन ने नहीं
बल्कि चीन के साथ पूरे विश्व को भारत वर्ष ने दिया था।
प्राचीन भारत में आत्मरक्षण की इस
विधा को ‘कलारिपप्यतु’ नाम से जाना जाता था। महाभारत काल में यह
विधा अपने चरम काल पर थी। स्वयं भगवान् कृष्ण इस
विधा के श्रेष्ठ महारथी थे।
क्योंकि मार्श आर्ट का सिद्धांत इतना पुराना है कि आप सोच
भी नहीं सकते। यदि हिन्दू पुराणों को
खंगाल कर देखा जाए, तो ऐसी मान्यता है कि मार्शल
आर्ट के संस्थापक भगवान परशुराम हैं। जी हां…
सही सुना आपने…

Jaroor dekhe.. Ujjain sinhasth ki kuch special jhalkiyan सिंहस्थ उज्जैन की कुछ झलकिया

चित्र
जय श्री महाकाल
जय महाकाल दोस्तों आज हम आप को सिंहस्थ उज्जैन की कुछ झलकिया देखा रहे.
आप देखो ध्यान से .
जय श्री महाकाल ।।।
Sabhar- sanjay varma

web designing in Shivpuri call 9993475129

चित्र
web designing in Agarmalwa
web designing in Alirajpur
web designing in Anuppur
web designing in Ashoknagar
web designing in Balaghat
web designing in Barwani
web designing in Betul
web designing in Bhind
web designing in Bhopal
web designing in Burhanpur
web designing in Chhatarpur
web designing in Chhindwara
web designing in Damoh
web designing in Datia
web designing in Dewas
web designing in Dhar
web designing in Dindori
web designing in Guna
web designing in Gwalior
web designing in Harda
web designing in Hoshangabad
web designing in Indore
web designing in Jabalpur
web designing in Jhabua
web designing in Katni
web designing in Khandwa
web designing in Khargone
web designing in Mandla
web designing in Mandsaur
web designing in Morena
web designing in Narsinghpur
web designing in Neemuch
web designing in Panna web designing in
Raisen
web designing in Rajgarh
web designing in Ratlam
web designing in Rewa
web designing in Sagar
web designing in Satna
web designing in Sehore
web desig…

एक मंदिर ऐसा है जहा पैरालायसिस paralysis treatment (लकवे ) का इलाज होता है !

चित्र
एक मंदिर ऐसा है जहा पैरालायसिस (लकवे ) का इलाज होता है !
एक मंदिर ऐसा भी है जहा पर पैरालायसिस (लकवे ) का इलाज होता है ! यहाँ पर हर साल हजारो लोग पैरालायसिस (लकवे ) के रोग से  मुक्त होकर जाते है यह धाम नागोर जिले के कुचेरा क़स्बे के पास है, अजमेर- नागोर रोड परयह गावं है ! लगभग ५०० साल पहले एक संत होए थे चतुरदास जी वो सिद्ध योगी थे, वो अपनी तपस्या से लोगो को रोग मुक्त करते थे ! आज भी इनकी समाधी पर सात फेरी लगाने से लकवा जड़ से ख़त्म हो जाता है ! नागोर जिले के अलावा पूरे देश से लोग आते है और रोग मुक्त होकर जाते है हर साल वैसाख, भादवा और माघ महीने मे पूरे महीने मेला लगता है !सन्त चतुरदास जी महाराज के मन्दिर ग्राम बुटाटी में लकवे का इलाज करवाने देश भर से मरीज आते हैं| मन्दिर में नि:शुल्क रहने व खाने की व्यवस्था भी है| लोगों का मानना है कि मंदिर में परिक्रमा लगाने से बीमारी से राहत मिलती है|राजस्थान की धरती के इतिहास में चमत्कारी के अनेक उदाहरण भरे पड़े हैं| आस्था रखने वाले के लिए आज भी अनेक चमत्कार के उदाहरण मिलते हैं, जिसके सामने विज्ञान भी नतमस्तक है| ऐसा ही उदाहरण नागौर के 40 किलोमीटर दू…