आखिर कौन है ओशो..!!! Who is osho?

आखिर कौन है ओशो..!!!
🔥
1)

संध्याकालीन सितारे का एकाकीपन या आकाशगंगा के पीछे छिपी रहस्यपूर्ण अथाहता| शायद अम्बर के धन-नील विस्तार में सिकुड़ी हुई चंद्रकला या प्रखर सूर्य जो शानदार गरिमा के साथ उगता है और हजारों किरणों में आकाश के टुकड़े कर देता है |
सप्तर्षियों की प्रज्ञा , अनंत का चिंतन | समाधि के अतल गहराइयों में उगता हुआ गतिशील मौन | उर्जा को हर्षोल्लास के साथ समेट कर उसे परात्पर की विराटता की ओर ले जाने वाले “ओशो” प्रत्येक के भीतर जीते है,जीये चले जाते है ,अनवरत्‌ |

-प्रसिद्ध नृत्यांगना मल्लिका साराभाई

🔥
2)

"ओशो" अद्भुत रहस्यदर्शी है | वे इस युग के सम्बुद्ध प्रज्ञा पुरुष है |

-महाकवी सुमित्रानंदन पंत

🔥
3)
" ओशो " एक महान दार्शनिक और श्रेष्ठतम रहस्यदर्शी है | वे भारतीये प्रज्ञा और चिंतन के सशक्त संदेशवाहक है |

-प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह

🔥
4)

गौतम बुद्ध के बाद समस्त मनुष्य जाति में ' ओशो " से बढ़कर कोइ और बुद्धि प्रमाण्यवादि एवम्‌ धर्मवेत्ता नहीं हुआ |

-डॉ. भाऊसाहेब लोखंडे

🔥
5)

आदि शंकराचार्य के बाद ओशो जैसी प्रतिभा का कोई दूसरा व्यक्ति नहीं है | शायद सौ वर्ष के बाद ही लोग उन्हे समझ पायेंगे क्योकि वे अपने समय से पहले आ गए है |

-अंतर्राष्ट्रीये ख्याति प्राप्त लेखक, खुशवंत सिंह

🔥
6)

मेरे मन में ओशो के लिए अगाध प्रेम है , बुद्ध के बाद वे ही एकमात्र व्यक्ति है जिन्होने चेतना के अंतिम स्तर महापरिनिर्वाणात्मक स्तर का स्पर्श किया है |

-महाकवि नीरज

🔥
7)

ओशो विश्व भर में हुए प्रज्ञा के सर्वोच्च शिखर पर विराजमान लोगो में से एक है

-श्री अशोकचक्रधर

🔥
8)

ओशो इस युग के एकमात्र महानतम महान ऋषि , युग प्रवर्तक है |

-गायक  हरि ओम शरण

🔥
9)

भगवान श्री रजनीश के शब्द विश्वात्मा-परमात्मा की वैद्धुतिक उर्जा से झँकृत है | वे महाकाल के भाल पर आगामी मनवंतरो के अक्षर उकेर रहे है | वे मंत्राक्षर है | बीजाक्षर है | इस उर्जा को संसार की कोई शक्ति अवरुद्ध नहि कर सकती |
इसी से आत्म स्वरूप श्री भगवान रजनीश को मै अपनी समस्त भगवत्ता के साथ प्रणति देता हूँ |

-सुविख्यात कवि एवम्‌ लेखक , वीरेंद्र कुमार जैन

🔥
10)

" ओशो " एक क्रांतिकारी विचारक और दार्शनिक है | उनके लेख मुझे जहाँ भी मिलते है - मै पढता हूँ | देश के चिंतकों पर उनका प्रभाव पड़ेगा |

-पद्मश्री डॉ. हरिवंश राय बच्चन

🔥
11)

आचार्य रजनीश ...भगवान रजनीश और फिर ओशो बीसवीं शताब्दी का एक ऐसा महामानव जिसने अपने संक्षिप्त से जीवनकाल में इतना कुछ कर दिखाया जिसकी तुलना कम से कम पिछले दो हजार वर्ष में तो कोइ देहधारी विचारक , दार्शनिक , धर्मनेता या कहे कोई संस्कृति पुरुष कर नहि पाया | वे हमारे बीच बहुत दिन तक नही रहे लेकिन इस अल्प समय में पुरे विश्व को इतना कुछ दे गए जिसका मूल्यांकन भी शायद सैकड़ों वर्ष में हो |
वे महान विचारक, मनीषी , सिद्ध पुरुष , अदभुत तार्किक और बेबाक सच्चाई के व्याख्याता थे |

-देवीशंकर प्रभाकर (लेखक एवम्‌ फिल्म निर्देशक)

🔥
12)

इस शताब्दी में ओशो जैसा दार्शनिक, विचारक, मनोविश्लेषक , चिंतक, साहित्यकार व्याख्याता कोई दूसरा नही हुआ | वे एक अवतार ही प्रतीत होते है |

-बहुआयामी साहित्यकार श्री शतदल

🔥
13)

कालजयी है ओशो | ओशो नाम है - प्रतिभा और प्रज्ञा के प्रचंड सूर्य का , जिसने अपने तीक्ष्ण किरणों से विश्व के अंधकार की छाती पर अपने सुनहरे हस्ताक्षर किए है |
वे असाधारण प्रतिभा संपन्न विचारक है - जिन्हे मंत्र दृष्टा ऋषियों और उपनिषद् के रचनाकारो की परम्परा में निःसंकोच रखा जा सकता है

-राज्य कवि उदयभानु हंस

🔥
14)

स्पष्टतः ओशो एक अतिशय कारगर व्यक्ति है , अन्यथा वह् इतना बड़ा खतरा न बनते | वह् वही बातें कह रहे है जिन्हें कहने के लिए किसी और व्यक्ति में साहस नही है | एक ऐसा व्यक्ति जसके पास वे सब किस्म के विचार है जो न केवल उत्तेजक है बल्कि जिनमे सत्य की अनुगुंज भी है | जो नियंत्रण  की सनक वालो को इतना भयभीत करती है कि उनके नाडे खुल जाते है |
अधिकारि तंत्र ओशो के सहज बोध के संदेश से उनको खतरनाक महसूस करता है |
यदि रोनाल्ड रीगन की चलती तो यह सभ्य शाकाहारी व्हाईट हाउस के लान पर सूली चढा दिया गया होता |

-लोकप्रिये अमेरिकी लेखक, टौम रौबिंस

🔥
15)

ओशो विश्व के विपुल्तम साहित्य सर्जक है , उनके शब्द निपट  जादू है

-सुविख्यात लेखिका अमृता प्रीतम

🔥
16)

भारत ने अब तक जितने विचारक पैदा किए है , वे उनमे सबसे मौलिक, सबसे उर्वर , सबसे स्पष्ट , और सर्वाधिक सृजनशील    विचारक है | उनके जैसा कोई व्यक्ति हम सदियो तक न देख पायेंगे |

-अंतर्राष्ट्रीये ख्याति प्राप्त लेखक, खुशवंत सिंह

🔥
17)

कोई भी सभ्यता एक सदी में एक भी उन जैसा व्यक्ति पैदा कर सके तो उसे किसी बात के लिए लज्जित होने की जरुरत नही है | वे महानतम अदाकार है |

-प्रीतीश नंदी

🔥
18)

ओशो आपके भीतर रचनात्मक उर्जा को जगाते है | वे कलाकारो के रहनुमा है, रहबर है |
हमारे वक्त से इतनी बड़ी हस्ती गुजर गई और हमने ध्यान नही दिया | बाद में जाकर , एक सदी के बाद हम तलाश करेंगे - कि वे क्या  थे |

-गीतकार गुलजार

🔥
19)

ओशो के अभिनय में क्रांति है | वे क्रिष्णत्व को पा चुके है | यह ब्रम्ह विद्ध्या उनमे सहज ही प्रकट  हुई है |

श्री हरींद्र दवे (भारतीये साहित्य के सुविख्यात सर्जक साहित्य अकादमी, रणजीतराये गोल्ड मेडल, अर्विंदो मेडल, के एम मुंशी गोल्ड मेडल, महाराष्ट्र गौरव, और कबीर सम्मान से सम्मानित)

🔥
20)

मानव जाती के समग्र इतिहास में रजनीश जैसे चैतन्य पुरुष विरल में भी विरलतम हुए है , उन्हें किसी परम्परा में नही रखा जा सकता |

-डॉ. महारज कृष्ण जैन

🔥
21)

जिस व्यक्ति पर विश्व की इतनी स्त्रिया विश्वास करती है , वह् उतना ही पवित्र, उतना ही पुर्ण पुरुष है |

-मदन कुवर पारेख

🔥
22)

वे असाधारण गुणों से संपन्न महामानव थे |

-जानकी वल्लभ शास्त्री

🔥
23)

आज पहली बार उसने गुनगुनाये मेरे शेर , आज पहली बार अपनी शायरी अच्छी  लगी |
ओशो ने अपने प्रवचनो में मेरी कविता को जगह दी है ...अब मुझे कोई पुरस्कार नही चाहिये

-शैल चतुर्वेदी

🔥
24)

मेरी द्रिष्टि में मनुष्य जाति के इतिहास में ओशो जितनी विराट चेतना इतने बहुमुखी आयामो के साथ आज तक अवतरित न हुई थी |

-अगेह भारती , एम एम डी फिल एम

🔥
25)

भरे मेघ से बरसे , फुटी कोंपल, महका उपवन, गंगा की शुचिता फैली कण कण , आनंद घन, रसौ वै सः , ओशो को शत शत नमन |

-डॉ. वसंत जोशी (पी एच डी कैलिफोरनिया , पी एच डी औक्स्फोर्ड)

🔥
26)

Osho is one of the most important educators and philosophical and religious leaders in the late 20th century.

-Author Robert Rimmx

🔥
27)

He is the rarest and most talented religionist to appear in  the century.

-Kazyyoshi kino (Professor of Buddhist studies)

🔥
28)

Osho is certainly a religious man, an intelligent human and one of those rare humans expressing himself with joy.

-Paul Reps (Author of zen flesh, zen bones)

🔥
29)

His incredible taped discourses and book have inspired me and millions of other on the path of self evolution….his presence here is like a great bell tolling …awaken, awaken, and awaken.

-James Coburn (Actor).

🔥
30)

I have been charmed from reading his book.

Fedirico Fellini (Film Director)

🔥
31)

OSHO is the most important and most successful teacher in the domain that lies at the intersection of psychology, psychotherapy, philosophy and religion

-Dr. Guy L. Claxton, D. Phil (oxford)

क्या हम अब भी समझ पाएंगे की आखिर कौन है ओशो..?

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget