एक गोत्र में शादी क्यों नहीं.... गर्व से कहें हम हिन्दू हैं

एक गोत्र में शादी क्यों नहीं....
वैज्ञानिक कारण हैं.. एक दिन डिस्कवरी पर
जेनेटिक
बीमारियों से सम्बन्धित एक ज्ञानवर्धक
कार्यक्रम
देख रहा था ... उस प्रोग्राम में एक
अमेरिकी वैज्ञानिक ने कहा की जेनेटिक
बीमारी न
हो इसका एक ही इलाज है और वो है "सेपरेशन
ऑफ़
जींस".. मतलब अपने
नजदीकी रिश्तेदारो में विवाह
नही करना चाहिए ..क्योकि नजदीकी रिश्तेदारों में
जींस सेपरेट नही हो पाता और
जींस लिंकेज्ड
बीमारियाँ जैसे हिमोफिलिया, कलर
ब्लाईंडनेस, और
एल्बोनिज्म होने की १००% चांस
होते हैं .. फिर मुझे
बहुत ख़ुशी हुई जब उसी कार्यक्रम में ये
दिखाया गया की आखिर हिन्दूधर्म में
हजारों वर्ष पहले जींस और डीएनए के
बारे में कैसे
लिखा गया है ? हिंदुत्व में कुल सात गोत्र होते है
और एक गोत्र के लोग आपस में
विवाह नही कर सकते
ताकि जींस सेपरेट रहे.. उस वैज्ञानिक ने
कहा की आज पूरे विश्व
को मानना पड़ेगा की हिन्दूधर्म ही विश्व
का एकमात्र
ऐसा धर्म है जो "विज्ञान पर आधारित" है !
गर्व से कहें हम हिन्दू हैं ....!!

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget