Show Mobile Navigation

लेबल

ज्योतिष शास्त्र पहले से भूकंप बाढ़ की जानकारी नही देता क्या ।।

admin - 1:40:00 pm

कल मुझे इंदौर में एक व्यक्ति मिले वो सरकारी कर्मचारी थे ।।
उन्होंने मुझसे पुछा की आपका ज्योतिष शास्त्र पहले से भूकंप बाढ़ की जानकारी नही देता क्या ।।
मैंने उनको बोला ज्योतिष शास्त्र में किसी भी गौचर गृह के बदलने का प्रभाव मानव से लेकर प्रकृति तक सभी पर होता है ।।
पर इंसान जब तक गृह का प्रकोप स्वयं नहीं झेलता तब तक नही समझता ।।
जैसे हमने 14 मार्च को पहले से ही लिख दिया था की शनि के वक्र होने पर बड़ा तूफान और जनहानि जैसे प्रकोप सआमने आते है ।।
लेकिन इंसान उस बात को गेहराई से नही लेता ।।। जब उसको स्वयं उस गृह की पीड़ा नही होती वो नहीं मानता ।।
मैंने कई लोगो के मुँह से ज्योतिषियों पर कटाक्ष करते ये देखा है की यदि किसी ज्योतिषी की भाविष्यवाणी सत्य हो जाए तो एक भी जातक उसको बधाई नही देता ।। हाँ अगर कुछ लिखा और वो सत्य न हो पाया हो तो जरूर उसको बोलने आएंगे की पंडित जी आपने तो कहा था की ऐसा होगा पर हुआ ही नही ।।
बस यही से ग्रहो की गड़ना और मनुष्य की सोच का प्रभाव शुरू हो जाता है ।

हमने उनको ये भी बोला की आपको सरकार नोकरी में 40000 रु देती है फिर  चाहे आप काम करो या ना करो आपकी तनख्वा तो पक्की है ।।
ओर हम ज्योतिषी आप लोगो के भविष्य के बारे में बताकर आपके मार्ग को प्रस्तत   करते है ।।
आज तक सरकार ने हमको तो कभी कुछ देने का नही सोचा ।।
इतना बड़ा है ज्योतिष विज्ञान जिसके द्वारा ग्रहो की गड़ना करके आपके जीवन में उन्नति का रास्ता दिखाते है ।।
उस विज्ञान पर आज तक किसी ने नही सोचा की इसको आगे लाकर इस पर शोध कराये जाये ।।
इतना बड़ा विज्ञान जो पहले से आपको प्रकृति और देश में होने वाले घटना क्रम की सूचना देता है ।। और वो होता भी है ।।
पर आज तक किसी भी देश के मुखिया ने इस पर विचार नही किया की इस विधा को आगे लाकर इसका सदुपयोग कर देश के हित में इसका प्रयोग और शोध कर लाभ लिया जाये ।।

हाँ ये जरूर करते है की किसी ज्योतिषी की भविष्यवाणी अगर गलत सिद्ध हो जाए फिर देखो लोगो का सवाल करने का तरीका ।।  ऐसा क्यों नही हुआ आपने तो कहा था होगा और जरूर होगा ।।
ये सुनने को कोई तईयार नही होगा की गृह भी देवताओ और कर्म फल के अधीन है ।।
अगर आपका शनि उच्च राशि का है और आप के कर्म नीच है तो शनि आपको  ऊंचाई नही देगा बल्कि आपका पतन करेगा ।।
जातक कर्म वाली वात नही सुनेगा और पंडित जी ने जो बता दिया की आपका शनि तो उच्च है आपको लाभ देगा ।। बस इतना सुना और जातक लग जाता है लोगो को कष्ट देने लूटने और धोका देने में ।।
यहाँ में ये कहूँगा की ज्योतिष भी नियम में बंधा हुआ है ।।
किस गृह से आपको कैसा फल मिलेगा ।। ये भी आपके कर्मो पर डिपेंड होगा ।।

आज हम जो प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहे है । उसी नीच कर्म का फल शनिदेव हमको दे रहे है ।।
मेरा आप सभी से निवेदन है की एक बार इस विषय पर विचार अवश्य करे ।।
की हम प्रकृति को क्या दे रहे है और उससे लेना क्या क्या नही चाह रहे ।
ज्योतिष बहुत ही विशाल और समुद्र की भाँती है ।। जिसमे कोई भी पूर्ण नही हो सकता ।।
लेकिन कहा गया है की अगर अमृत की एक बूँद भी है तो कम नही ।।
इसलिए इस विद्या का अपमान ना करे ।।। ग्रहो को समझकर चलकर अपनी उन्नति का मार्ग देना ज्योतिष् का काम है ।।
किसी का भाग्य ज्योतिषी नही बदलता केवल भाग्य को बताने का कार्य ज्योतिषी का होता है ।।
जैसे हम किसी मार्ग पर जाये और आपको कोई ये बता दे की वो मार्ग दीक नही है ।। तो आपको उसका लाभ मिल सकता है ।।

पं विकास दीप शर्मा मांशपूर्ण ज्योतिष शिवपुरी