संदेश

July, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

माँ पीताम्बरा पीठ दतिया maa Pitambara peeth datia

चित्र
पीताम्बरा पीठ दतिया

विवरण  'पीताम्बरा पीठ'

भारत के लोकप्रिय शक्तिपीठों में से एक है,
जो मध्य प्रदेश में स्थित है।  
मुकदमे आदि के मामले में
पीताम्बरा देवी का अनुष्ठान
सफलता प्राप्त करने
वाला माना जाता है।
राज्य मध्य प्रदेश
ज़िला दतिया
निर्माण काल 1935
प्रसिद्धि शक्तिपीठ
संबंधित लेख मध्य प्रदेश , दतिया ,
शक्तिपीठ
विशेष पीताम्बरा पीठ
के प्रांगण में
ही 'माँ धूमावती देवी'
का मन्दिर है, जो भारत में
भगवती धूमावती का एक
मात्र मन्दिर है।

पीताम्बरा पीठ
की स्थापना एक सिद्ध
संत, जिन्हें लोग
स्वामीजी महाराज
कहकर पुकारते थे, ने 1935 में
की थी।
श्री स्वामी महाराज
ने बचपन से ही संन्यास
ग्रहण कर लिया था।

पीताम्बरा पीठ
दतिया ज़िला , मध्य प्रदेश में
स्थित है। यह देश के
लोकप्रिय शक्तिपीठों
में से एक है। कहा जाता है
कि कभी इस स्थान
पर श्मशान हुआ करता था,
लेकिन आज एक विश्वप्रसिद्ध
मन्दिर है

स्थानील
लोगों की मान्यता है
कि मुकदमे आदि के सिलसिले में
माँ पीताम्बरा का अनुष्ठान
सफलता दिलाने वाला होता है।

पीताम्बरा पीठ
के प्रांगण में
ही 'माँ धूमावती देवी'
का मन्दिर है,

जो भारत में
भगवती धूमावती का एक
मात्र मन्दिर है।



स्थापना
मध्य प्रदेश …

Karera Bird Sanctuary करेरा पक्षी अभयारण्य

चित्र
If tigers draw wildlife enthusiasts to Kanha and
Bandhavgarh national parks in Madhya Pradesh; it
is diverse avian army that attract tourists to Karera
Bird Sanctuary. Karera Bird Sanctuary is an ideal
spot for bird watchers, who love watching birds of
different colors, shape and size. Karera Bird
Sanctuary is not only about just birds but the
sanctuary is also home to a number of wild
animals.Karera Bird Sanctuary is located in Madhya
Pradesh and is about 55 kilometres from Shivpuri.Shivpuri was once the summer capital of the
Scindia rulers of Gwalior. Karera Bird Sanctuary is
a bird watcher's delight. The sanctuary is famous
for its celebrity inhabitant Indian bustard and is
believed to be last refuge of this bird. The studies
conducted on the Indian bustard here have
revealed that there are three type of bustards found
in the sanctuary.The three types of bustards you
may come across are Indian bustard, bearded
bustard and colored bustard.
Experts have recorded 245 species of bi…

कारण से विवाह नही हो पा रहा है??

कारण से विवाह नही हो पा रहा है??तो आप इन उपायों के माध्यम से लाभ उठा सकते हैं|इससे
सबसे पहली बात यह हैकी आपकी पत्रिका में विवाह योग
होना आवश्यक है|आप सर्वप्रथम
किसी ज्ञानी से
बारीकी से
अपनी पत्रिका का अध्यन करवा लें|उनसे
यह पता करें आपकी पत्रिका में विवाह योग
हैं भी या नहीं|यदि है
तो विवाह क्यूँ नही हो पा रहा है |अगर कोई गृह रूकावट डाल रहा है तो सर्वप्रथम उस
गृह की शान्ति आवश्यक है|यदि आपकी पत्रिका के अनुसार कोई गृह
ही समस्या दे रहा है,विवाह योग
भी है और विवाह
नहीं हो पा रहा है तो आप आगे दिए
जा रहे उपाय कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं|विवाह योग्य लोगों को प्रत्येक गुरूवार को नहाने वाले
पानी में एक
चुटकी हल्दी डालकर स्नान
करना चाहिए|केसर का भी प्रयोग
करना चाहिए|यदि ऐसे लोग गुरूवार को गाय को भोग अर्थात दो आटे के पेड़े
पर थोड़ी हल्दी लगाकर थोडा गुड
तथा चने की गीली दाल
का भोग देना चाहिए|भूलकर भी बजुर्गों का अपमान न करें|बजुर्ग
व्यक्तियों का सम्मान करना चाहिए|
यह प्रयोग शुकल पक्ष के प्रथम गुरूवार से
करना चाहिए|गुरूवार की शाम को पांच प्रकार
की मिठाई के साथ
हरी इलाइची का जोड़ा तथा शुद्ध
घी के दीप…